Monday , October 22 2018
Home / हरियाणा / हरियाणा पुलिस चल रही कछुआ चाल, न्याय के लिए दर-दर भटक रहा परिवार

हरियाणा पुलिस चल रही कछुआ चाल, न्याय के लिए दर-दर भटक रहा परिवार

भिवानी:भिवानी के बाबा नगर निवासी एक परिवार ने अपने ही भाई की बीमारी का फायदा उठाते हुए अपने भाई के नाम से लगभग 8 करोड़ रुपए का लोन पास करवा लिया। लोन की राशी जब बैंक में भरी नही की गई तो बैंक ने नोटिस जारी कर दिया। बैंक का नोटिस मिला तो परिवार के पैरो तले जमीन खिसक गई। उन्होंने बैंक से पता किया तो पता चला कि उनके नाम से करोड़ो रुपए का लोन लिया गया है। अब पीडित परिवार बैंक से कह चुका है कि लोन उन्होंने लिया ही नही तो वो भरे कैसे। लेकिन बैंक ने कानूनी कार्यवाही करते हुए पीड़ित परिवार की दो फैक्ट्री पर सील लगा दी। मामला 2013 में शुरु हुआ। आरोप है कि केशव अग्रवाल ने अपने भाई की बीमारी का फायदा उठाया। वर्ष 2013 में भीम सैन को फैक्ट्री के लिए कुछ पैसों की जरुरत थी तो उनके भाई केशव ने कहा कि वे बैंक से लोन करवा देंगे। जिस पर भीम सैन ने लोन के लिए प्रार्थना पत्र तैयार करवाया लेकिन अचानक मूड बदल गया तो लोन नही लिया। आरोप है कि इसी प्रार्थना पत्र का फायदा केशव अग्रवाल ने उठा लिया। आरोप है कि उन्होंने बैंक में जाकर जैसे तैसे 5 करोड रुपए की सीसी लिमिट तो 3 करोड़ 75 लाख रुपए का लोन ले लिया, जबकि भीम सैन ने अपना खाता बैक में खोला ही नही। इसकी बात की सूचना भीम सैन व उसके परिवार को नही लगी।

मामला यूं ही चलता रहा और भीम सैन अग्रवाल के ज्यादा बीमार होने के कारण उसका परिवार भटकता रहा। उनके अनुसार उन्हें जानकारी ही नही थी कि उनके नाम से लोन लिया गया है। धीरे-धीरे लोन पर ब्याज भी बढ़ता रहा। बताया जा रहा है कि लोन की कुछ किस्ते केशव अग्रवाल छुप-छुप कर भरता भी रहा। जब भरनी बंद कर दी तो एक दिन भीम सैन के नाम से बैंक का नोटिस आया। नोटिस देख कर भीम सैन व उसके परिवार के पांव के नीचे से जमीन ही खिसक गई। क्योंकि इतने पैसे की लोन अमाऊंट देखकर उन्होंने जब बैंक से पता किया तो बैंक वालों ने कहा कि आप ने लोन लिया है जिसकी अदायगी समय पर नही की जा रही है।

भीम सैन की पत्नी रेखा अग्रवाल व बेटी बरखा अग्रवाल ने बताया कि आज वे दाने दाने के लिए मोहताज हो रहे है। रेखा अग्रवाल ने बताया कि उनके पति के नाम से करोड़ो रुपए का लोन लेकर उनके देवर ने उन्हें कर्जे में डूबो दिया है। वे इस मामले की शिकायत पुलिस से भी कर चुकी है लेकिन आज तक इस मामले की केवल मात्र जांच चल रही है। उनका पूरा परिवार परेशान हो चुका है। मामला पुलिस की इक्रोमिक्स सेल के पास है। भिवानी इक्रोमिक्स सेल के प्रभारी राजबीर सिवॉच ने बताया कि भीम सेैन व केशव दोनों के हस्ताक्षर नमूना लिया गया है तथा दोनों ही नमूने जांच के लिए मधुबन लैब में भेजे गए है। उन्होंने बताया कि 5 बार रिमांइडर भी लिखा गया है। लेकिन जांच तब तक आगे नही चल सकती जब तक नमूनों की रिपोर्ट नही आ जाती है। इस मामले को लेकर पुलिस अपना काम कर रही है रिपोर्ट आते ही तुरंत कार्यवाही की जांएगी तथा पीड़ित पक्ष को न्याय दिलवाया जाएंगा।

Loading...

Check Also

मामूली सी कहासुनी के चलते दोस्ती की हत्या की

फरीदाबाद:पंद्रह साल पुरानी दोस्ती का सिला एक दोस्त ने दोस्त की हत्या करके दिया, मामला ...