Friday , March 22 2019
Home / home / स्पॉट फिक्सिंग मामला : SC का बड़ा फैसला, श्रीसंत पर से हटाया बैन

स्पॉट फिक्सिंग मामला : SC का बड़ा फैसला, श्रीसंत पर से हटाया बैन

नई दिल्ली:सुप्रीम कोर्ट ने टीम इंडिया के पूर्व गेंदबाज श्रीसंत को बड़ी राहत मिली। सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई की तरफ से इस गेंदबाज पर लगाए गए आजीवन प्रतिबंध को खत्म कर दिया है। कोर्ट ने कहा कि बीसीसीआई से कहा कि प्रतिबंध पर फिर से विचार करें। अदालत ने कहा कि तीन महीने में बीसीसीआई फैसला करे। श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध खत्म हो गया है। लेकिन वो अभी खेल नहीं पाएंगे। अदालत ने कहा कि बीसीसीआई श्रीसंत का भी पक्ष सुने। इसके साथ जजों ने कहा कि लाइफटाइम बैन ज्यादा है। क्रिकेटर श्रीसंथ ने अदालत के फैसले पर खुशी जताई है।

2013 में आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में नाम सामने आया था। पुलिस जांच में उन्हें क्लीन चिट मिल गई थी। लेकिन बीसीसीआई ने आजीवन प्रतिबंध लगा दिया था। इसके बाद केरल हाइकोर्ट की एकल जज बेंच ने प्रतिबंध हटाया था। लेकिन बीसीसीआई की पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई करते हुए केरल हाई कोर्ट ने अपने फैसले को पलट हुए एक बार फिर प्रतिबंध लगा दिया। बीसीसीआई की पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई करते हुए केरल हाई कोर्ट ने अपने फैसले को पलट हुए एक बार फिर प्रतिबंध लगा दिया।इस फैसले को श्रीसंथ ने सुप्रीम कोर्ट में चुनोती दी थी। श्रीसंत जब स्पॉट फिक्सिंग मामले में फंसे थे तब वो राजस्थान रॉयल्स टीम का हिस्सा थे।

श्रीसंत ने कहा कि वो फिर से मैदान में उतारने को तैयार हैं। 90 दिन के अंदर बीसीसीआई को फैसला लेना है। लेकिन ये ज्यादा नही है जहां मैंने इतना लंबा इंतजार किया है। मैं लिएंडर पेस को आदर्श मानता हूं। जब वो 45 साल की उम्र में ग्रैंडस्लैम खेल सकते हैं। नेहरा 38 साल की उम्र में वर्ल्डकप खेल सकते हैं तो मैं क्यों नहीं मैं तो केवल 36 साल का हूं। मेरी प्रैक्टिस जारी है। इतने लंबे समय बाद मैदान में वापसी करने आसान होगा तो उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों को मैदान पर चोट लगती है और वो 2 तीन साल तक खेल से दूर रहते हैं। मैं भी ऐसी ही मानूंगा कि मुझे भी बड़ी चोट लगी थी और जिससे उबर कर मैं वापसी कर रहा हूं।

Loading...

Check Also

यूरोपीय संघ ने गूगल पर लगाया 1.7 अरब डॉलर का जुर्माना, जानें वजह

यूरोपीय संघ के प्रतिस्पर्धा आयोग ने गूगल पर पर 1.7 अरब डॉलर का भारी जुर्माना ...