Home / Home / सेना के पास बुलेट प्रूफ जैकेट्स की भारी कमी

सेना के पास बुलेट प्रूफ जैकेट्स की भारी कमी

नई दिल्ली : कश्मीर में आतंकी सुरक्षा बलों को निशाना बनाने के लिए स्टील बुलेट का इस्तेमाल कर रहे हैं और सेना के जवानों के पास इन बुलेट को रोकने वाले बुलेट प्रूफ जैकेट नहीं हैं। नए बुलेट प्रूफ जैकेट खरीदने के लिए पिछले साल अप्रैल में कॉन्ट्रैक्ट किया गया था लेकिन अब तक सेना को 10 हजार नए बुलेट प्रूफ जैकेट ही मिल सके हैं। सेना को तीन लाख से ज्यादा बुलेट प्रूफ जैकेट की जरूरत है। पिछले महीने अनंतनाग में जब आतंकियों ने सुरक्षा बलों पर हमला किया तो स्टील बुलेट का भी इस्तेमाल हुआ था। जांच के दौरान हमले वाली जगह से स्टील बुलेट के कई राउंड मिले। स्टील बुलेट ने कई जवानों के बुलेट प्रूफ जैकेट को भी भेद दिया था। आतंकी पिछले कुछ सालों से स्टील बुलेट का इस्तेमाल करने लगे हैं। आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद ने कई बड़े हमलों में स्टील बुलेट का इस्तेमाल किया है, इसे लेकर सेना सचेत भी है।

स्टील बुलेट का मुकाबला कर सकेगी नई जैकेट
सेना के एक सीनियर अधिकारी ने बताया कि अभी सेना के जवानों के पास जो बुलेट प्रूफ जैकेट हैं, वे कैटिगरी-3 के हैं। नए बुलेट प्रूफ जैकेट लेने का कॉन्ट्रैक्ट हुआ है। उन्होंने बताया कि ये नए जैकेट पुराने से बेहतर हैं और 3 प्लस कैटिगरी के हैं। बुलेट प्रूफ जैकेट किस तरह का हमला झेल सकती है, उसी हिसाब से कैटिगरी तय होती है। यह पूछने पर कि क्या नई बुलेट प्रूफ जैकेट स्टील बुलेट को रोक पाएंगी उन्होंने कहा कि इसका पूरा ख्याल रखा गया है।

Loading...

Check Also

वीरभूमि बुन्देलखंड में लोक परम्पराओं के नृत्य अब बने अतीत

हमीरपुर :  वीरभूमि बुन्देलखंड में लोक नृत्यों का लोक जीवन में बड़ा ही महत्व हैं। ...