Home / Home / सतलुज में बढ़ा पानी, कपूरथला में धुस्सी बांध टूटा, आहली खुर्द गांव में घुसा पानी, लाेग छताें पर बैठे

सतलुज में बढ़ा पानी, कपूरथला में धुस्सी बांध टूटा, आहली खुर्द गांव में घुसा पानी, लाेग छताें पर बैठे

कपूरथला. सतलुज दरिया का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। तीन जगह मंडाला, सरुपवाल व भरोयाणा के पास से 5 दिन में टूटे धुस्सी बांध अब तक खुले पड़े हैं। लेकिन सबसे ज्यादा खतरा मंडाला के पास से टूटे धुस्सी बांध से है। यहां से बह रहा पानी सुल्तानपुर लोधी तक पहुंचने लगा है। पानी ने अब गांव रामे को भी पूरी तरह अपनी चपेट में ले लिया है। पहले रामा के डेरों तक ही पानी था लेकिन रात को अब पानी गांव में भी आ गया है। इधर, वीरवार देर रात को गांव आहली खुर्द के पास से भी धुस्सी बांध टूट गया। जहां सुबह सुखबीर बादल दौरा करने पहुंचे थे। सुखबीर ने कहा था पानी बढ़ रहा है बांध को खतरा है। देर रात को वहीं से ही बांध टूट गया। लेकिन प्रशासन व आर्मी ने मौके पर जाकर उस पर काबू पा लिया। पानी तेज बहने से तो कम हो गया। मगर टीमों को अभी पानी बहने की दरार नहीं मिल पाई है।

एनडीआरएफ व आर्मी की टीमें बचाव कार्यों में रात तक जुटी रहीं। लोग कई दिन से अंधेरे में गर्मी के बीच पानी में रहने को मजबूर हैं। कई परिवार तो घरों को छोड़ कर बाहर आ गए हैं लेकिन कई परिवार घरों की छतों पर बैठे हुए हैं। प्रशासन, संत सीचेवाल व अन्य समाजसेवी पानी में घिरे लोगों को राशन, पानी व अन्य सामग्री पहुंचा रहे हैं। इधर जिले के डीसी ने बाढ़ से प्रभावित लोगों की मदद कर रहे समाजसेवी लोगों को सुचेत करने के आदेश भी जारी किए हैं। डीसी ने कहा है कि बाढ़ प्रभावित लोगों की मदद करें, मगर रास्ता रोक कर ट्रैफिक जाम करने से बचना होगा। जिले में पांच दिन से चार जगह से धुस्सी बांध टूट चुका है। 62 से अधिक गांव पानी में डूबे हुए है।

वीरवार रात से बांध काे भरने में जुटा प्रशासन
वीरवार को पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह सुल्तानपुर लोधी में सतलुज दरिया की बाढ़ से प्रभावित हुए गांवों सरुपवाल, गिद्दडपिंडी आदि गांवों का दौरा करने पहुंचे थे। इसी दिन शिअद प्रधान सुखबीर सिंह बादल आहली कलां, आहली खुर्द, आलूवाल, सरुपवाल व शेखमांगा आदि गांवों का दौरा किया। सुखबीर ने आहली खुर्द में पहुंच कर बांध को खतरा होने की बात कही थी प्रशासन नहीं जागा। देर रात को आहली खुर्द के पास से धुस्सी बांध में दरार आ गई। गांवों के लोगों ने इसकी सूचना तुरंत जिला प्रशासन व विधायक नवतेज सिंह चीमा को दी। मौके पर ही विधायक चीमा व एसडीएम नवनीत कौर बल एनडीआरएफ व आर्मी टीमों के साथ पहुंच गए। आधी रात तक बचाव कार्यों में टीमें जुटी रही।

पाक सीमा से सटा फिरोजपुर का कालूवाला गांव में 5 दिन से फंसे हैं 100 से अधिक लोग

सतलुज दरिया में बढ़े जलस्तर के कारण पाकिस्तान से लगती फिरोजपुर जिले की सीमा के आखिरी गांव कालूवाला 5 दिन से पानी से चारों तरफ से घिरा हुआ है। 5 हजार की आबादी वाले इस गांव में ज्यादातर लोग गांव से निकलकर दूसरी जगहों पर शरण ले रखी है। लेकिन यहां अब भी 100 से ज्यादा लोग फंसे हुए हैं। ये लोग घर छोड़ने को तैयार नहीं है। इन लोगों तक राशन पहुंचाने का प्रशासन की ओर से कोई इंतजाम नहीं किया गया है। वहीं उन घरों में अभी भी पशु मौजूद हैं जिन्हें खाने को चारा न मिलने से उनकी जान पर आन बनी है। गांव कालूवाला देश का आखिरी ऐसा गांव है जहां तीन तरफ पानी और एक तरफ पाक सीमा है। लोग बेड़ियों के सहारे सतलुज दरिया पार कर शहर की ओर आते जाते हैं। लोगों का कहना है कि सीमा सुरक्षाबल वर्ष में मात्र एक या डेढ़ माह के लिए कैप्सूल पुल बनाती है। ग्रामीणों ने बताया कि गांव टेंडीवाला से बीएसएफ की चौकी की ओर जाने वाले रास्ते पर 30 फुट चौड़ा बांध तेज बहाव से 5 फुट बांध ही बचा है।

Loading...

Check Also

हावड़ा में बंदूक के साथ कुख्यात अपराधी गिरफ्तार

कोलकाता: हावड़ा जिले में पुलिस की खुफिया टीम ने इच्छापुर कमरडांगा बस स्टैंड पर शुक्रवार रात करीब ...