Tuesday , March 26 2019
Home / मनोरंजन / शायरी: तुम्हें कोई और देखें अच्छा नहीं लगता

शायरी: तुम्हें कोई और देखें अच्छा नहीं लगता

अभी ना पूछो मंज़िल कँहा है,

अभी तो हमने चलने का इरादा किया है,

ना हारे हैं ना हारेंगे कभी ये खुद से वादा किया है।

उस जैसा मोती पूरे समंद्र में नही है,

वो चीज़ माँग रहा हूँ जो मुक़्दर मे नही है,

किस्मत का लिखा तो मिल जाएगा मेरे ख़ुदा,

वो चीज़ अदा कर जो किस्मत में नही है।

 

जब से देखा है तेरी आँखों मे झाक कर,

कोई भी आईना अच्छा नहीं लगता ,

तेरी मोहब्बत मे ऐसे हुए हैं दीवानें ,

तुम्हें कोई और देखें अच्छा नहीं लगता।

सिलसिला यूं ही चलने दो शायरी का हम भी तो देखें,

कब तक मेरे अल्फ़ाज़ तेरे दिल तक नही पहुंचते।

पर्वतों की तरह शांत हो गए हैं उसके और मेरे रिश्ते,

जब तक में उसे ना पुकारूँ उधर से वो भी आवाज नहीं देती।

Loading...

Check Also

मौनी रॉय ने सेक्सी अंदाज में फिर बरपाई हॉटनेस

आजकल कई टीवी एक्ट्रेस अपनी हॉटनेस की हाडे पार कर रहीं हैं. ऐसे में मौनी ...