Home / देश / रोजगार को लेकर मोदी सरकार ने लिया बड़ा फैसला, युवाओं में दौड़ी खुशी की लहर

रोजगार को लेकर मोदी सरकार ने लिया बड़ा फैसला, युवाओं में दौड़ी खुशी की लहर

मोदी सरकार के सामने इस समय बेरोजगारी सबसे बड़ा मुद्दा है। लगातार बढ़ रही बेरोजगारी ने सरकार के सामने एक बड़ी चुनौती खड़ी कर दी है। ऐसे में अब मोदी सरकार ने रोजगार पर एक बड़ा फैसला लिया है, जिससे युवाओं में खुशी की लहर दौड़ पड़ी है।

भारत देश में बढ़ती बेरोजगारी-

तेजी से बढ़ती जनसंख्या के साथ-साथ देश में बेरोजगारी भी उसी दर से बढ़ती जा रही है। नेशनल सैंपल सर्वे ऑफिस के आंकड़ों के अनुसार देश में इस समय बेरोजगारी की दर 6.1% है, जो कि पिछले 45 वर्षों में सबसे अधिक है। विपक्षी पार्टियों ने लोकसभा चुनाव के समय बेरोजगारी का मुद्दा उठाया था लेकिन राष्ट्रवाद के आगे सभी मुद्दे धरे के धरे रह गए।

 

पिछले कार्यकाल में मोदी सरकार ने युवाओं के कौशल विकास व स्वरोजगार के लिए मुद्रा लोन जैसी योजनाओं पर जोर दिया था लेकिन यह योजनाएं भी बेरोजगारी को दूर करने में बहुत अधिक सफल नहीं रही। इसके अलावा वित्तीय वर्ष 2018-19 की अंतिम तिमाही में अर्थव्यवस्था की रफ्तार भी धीमी पड़ी है।

क्या है रोजगार पर मोदी सरकार का बड़ा फैसला-

लोकसभा चुनाव में अभूतपूर्व जीत दर्ज करने के पश्चात दोबारा सत्ता में आते ही मोदी सरकार ने युवाओं के रोजगार को लेकर बड़ा कदम उठा लिया है। सरकार ने रोजगार बढ़ाने तथा अर्थव्यवस्था की गति सुधारने के लिए दो कैबिनेट कमेटियों का गठन किया है। प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता वाली इन दोनों कमेटियों का पहला लक्ष्य देश में नए रोजगार पैदा करना तथा निवेश को बढ़ावा देना है।

 

रोजगार को बढ़ावा देने के लिए बनाए गए इस प्लान के तहत मोदी सरकार सबसे पहले छोटे व्यापारियों को विकास की मुख्यधारा में लाने का कार्य करेगी। इसके अतिरिक्त असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले लोगों का सर्वेक्षण कराकर सरकार रोजगार के लिए आगामी रणनीति का निर्माण करेगी।

Loading...

Check Also

‘स्वाभिमान का मतलब क्या होता है पवार साहब?’- शिवसेना

मुंबई: राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के अध्यक्ष शरद पवार पर शिवसेना के मुखपत्र सामना में ...