Home / खेल / राष्ट्रीय एथलेटिक चैंपियनशिप में दौड़ेंगे विदेशी, लखनऊ में आयोजन 27 से

राष्ट्रीय एथलेटिक चैंपियनशिप में दौड़ेंगे विदेशी, लखनऊ में आयोजन 27 से

लखनऊ। एथलेटिक्स में भारत में एक नायाब आयोजन की मेजबानी करने का मौका लखनऊ को मिला है। प्रदेश की राजधानी लखनऊ के 35वीं वाहिनी पीएसी महानगर के सिंथेटिक ट्रैक पर 27 अगस्त से होने वाली 59वीं राष्ट्रीय अंतरराज्यीय सीनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप में भारत के नामचीन एथलीटों के साथ श्रीलंका, ईरान, मालदीव, कजाखस्तान और अफगानिस्तान के धावक भी पदकों की जोर आजमाइश में जुटेंगे। यह पहला मौका होगा जब राष्ट्रीय चैंपियनशिप में विदेशी धावक भाग लेंगे। चार दिवसीय यह आयोजन काफी नायाब होने की संभावना है।
लखनऊ में करीब चार वर्ष बाद राष्ट्रीय अंतरराज्यीय एथलेटिक्स चैंपियनशिप की मेजबानी करने जा रहा है। 30 अगस्त तक होने वाले इस आयोजन में करीब 700 एथलीट अपना जलवा बिखेरेंगे। लखनऊ में श्रीलंका का 12 सदस्यीय दल (10 एथलीट व 2 ऑफीशल), ईरान का दस (9 एथलीट व 1 ऑफीशल) और मालदीव का सात सदस्यील दल (6 एथलीट व 1 ऑफीशल) का आना फाइनल है। इनके साथ कजाखस्तान और अफगानिस्तान के एथलेटिक संघ से वार्ता अंतिम दौर में है।

पहली बार इस तरह की मीट का फाउल स्टार्ट डिडेक्टर, हर इवेंट में स्कोर बोर्ड और ट्वीटर तथा फेसबुक पर लाइव प्रसारण किया जाएगा। रेडिको खेतान के बैनर तले होने वाली वाली राष्ट्रीय प्रतियोगिता के आयोजन समिति के अध्यक्ष और पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स उत्तर प्रदेश के को-चेयरमैन मुकेश बहादुर सिंह ने बताया कि चैंपियनशिप को लखनऊ शहर के लिए बेहद यादगार बनाना चाहते हैं। इसके लिए हमने पूरी तैयारी भी कर ली है।

सभी खिलाडियों के रुकने का उच्च स्तरीय इंतजाम कर दिए गए हैं। आयोजन स्थल पर प्रयुक्त होने वाले हर उपकरण को मानकों के अनुसार मंगाया गया है। उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि आने वाले समय में उत्तर प्रदेश के खिलाड़ी ओलंपिक में पदक जीतें। मीट में देश के 25 राज्यों के अलावा तीन देशों (श्रीलंका, ईरान और मालदीव) के तकरीबन सात सौ खिलाड़ी कुल 45 इवेंट में पदकों अपनी-अपनी ताकत दिखाएंगे। उम्मीद है कि बेहतर परिणाम सामने आएंगे। चार दिवसीय इस चैंपियनिशप का उद्घाटन दोपहर में एक बजे भारतीय जनता पार्टी, उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह करेंगे। उद्घाटन समारोह के विशिष्ट अतिथि कैबिनेट मंत्री चेतन चैहान व ब्रजेश पाठक के साथ राज्यमंत्री स्वाति सिंह होंगे। इस समारोह की अध्यक्षता भारतीय एथलेटिक फेडरनेशन के अध्यक्ष एडिले सुमारिवाला करेंगे।

स्टार एथलीट हिमा दास का लखनऊ में होने वाली इस मीट में हिस्सा लेने पर स्थिति अभी स्पष्ट नहीं है। उत्तर प्रदेश एथलेटिक्स संघ के सचिव पीके श्रीवास्तव ने बताया, हिमा की एंट्री आ चुकी है और असम एथलेटिक्स संघ ने भी उनके भाग लेने की बात कही है। हम विश्वास से नहीं कह सकते कि वह लखनऊ आ रही हैं। हो सकता है कि हिमा विश्व चैंपियनशिप के लिए कहीं और से प्रयास करें। एक और स्टार एथलीट जिनसन जॉनसन के लखनऊ में आने को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई है वआयोजक भी उनके भाग लेने पर पूरी तरह सहमति नहीं जता पा रहे हैं। दो महीने में छह स्वर्ण पदक जीत चुकी हिमा दास अभी भी कजाखस्तान में होने वाली विश्व चैंपियनशिप के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाई हैं।

ऐसे में यहां आयोजित यह मीट हिमा के लिए काफी महत्वपूर्ण है। चार दिनों तक चलने वाली इस राष्ट्रीय स्तर की में 45 स्पर्धाओं में मिक्स रिले को पहली बार शामिल किया गया है। इस स्पर्धा के तहत दो पुरुष और दो महिला एथलीट एक साथ हिस्सा लेंगे। इस मिक्स रिले में कोई भी खिलाड़ी रेस की शुरुआत और अंत कर सकता है। इस चैंपियनशिप में दुती चंद (100 और 200 मीटर), मुहम्मद अनस (400 मीटर), जीतू बेदी (400 मीटर), सुधा सिंह (3000 मीटर स्टीपल चेज), पारुल चैधरी (3000 मीटर स्टीपल चेज), शिवशंकर (लंबी कूद), प्राची (400 मीटर), शिवपाल सिंह (जैवलिन थ्रो) जैसे दिग्गजों में पदक के लिए जोर-आजमाइश होगी।

Loading...

Check Also

लाहिड़ी संयुक्त 17वें स्थान पर

जैकसन :भारत के अनिर्बान लाहिड़ी सैंडरसन फार्म्स गोल्फ चैम्पियनशिप के पहले दौर में तीन अंडर ...