Wednesday , December 19 2018
Home / पंजाब / यौन शोषणः ब्रिटिश सिख लड़कियां बन रही पाक गैंग का शिकार

यौन शोषणः ब्रिटिश सिख लड़कियां बन रही पाक गैंग का शिकार

अमृतसर/जालंधर:पाकिस्तानी मूल के लोगों के गिरोह द्वारा ब्रिटिश सिख लड़कियों के यौन उत्पीडऩ और शोषण का मामला एस.जी.पी.सी. के पास पहुंचा है और एस.जी.पी.सी. की इसी महीने होने वाली धर्म प्रचार कमेटी की मीटिंग में इस मुद्दे पर चर्चा होगी। लोगों ने आरोप लगाया कि इन घटनाओं पर अधिकारियों द्वारा राजनीतिक कारणों से पूरा ध्यान नहीं दिया गया है। बीते कल जारी एक नई रिपोर्ट में यह दावा किया गया है। ‘समूचे ब्रिटेन में सिख युवतियों का धार्मिक आधार पर यौन उत्पीडऩ’ शीर्षक वाली रिपोर्ट सिख मध्यस्थता एवं पुनर्वास समूह (स्मार्ट) तथा सिख यूथ यू.के. ने संकलित की है। इस रिपोर्ट को यहां के सांसदों का समर्थन प्राप्त है।

इसमें पिछले कई दशकों से हो रहे उत्पीडऩ की पद्धति की जांच की मांग की गई है। रिपोर्ट में बताया गया है कि 19वीं सदी के आठवें दशक की शुरुआत में ब्रिटिश सिख संगठनों द्वारा एकत्रित साक्ष्यों में पाया गया कि मुख्य रूप से पाकिस्तानी या मुस्लिम अपराधियों द्वारा गिरोह तैयार करके युवा ब्रिटिश सिख महिलाओं को यौन उत्पीडऩ के लिए निशाना बनाया गया। हालांकि, इनमें से ज्यादातर अपराधों को दर्ज नहीं किया गया। इससे सवाल उठता है कि क्या सिख युवा महिलाएं पीड़ित हैं या उन्हें धार्मिक आधार पर निशाना बनाया जा रहा है।

दशकों से हो रहा यौन शोषण सिख समुदाय के नेताओं का कहना है कि यह समस्या 1960 के दशक में शुरू हुई थी लेकिन 2012 में इस गिरोह का रहस्योद्घाटन हुआ। इस रिपोर्ट का कहना है कि इसमें किसी भी व्यक्ति, समुदाय, संस्कृति या विश्वास को आहत नहीं किया गया है लेकिन जो तथ्य हैं वह सामने हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि इस सत्य को समझे बिना इसका समाधान संभव नहीं है। ब्रिटेन की लेबर पार्टी की एक सांसद सारा का कहना है कि मैंने जब इस घटना को पहली बार सुना तो यकीन नहीं हुआ। उन्होंने हैरानी व्यक्त की कि पाकिस्तानी पुरुषों द्वारा सिख लड़कियों के साथ संगठित दुव्र्यवहार की घटना कतई निंदनीय है।

सारा ने कहा कि यह कैसे हो सकता है कि दशकों से सिख लड़कियां को निशाना बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस बाबत मैंने सिख महिलाओं से बात की है। उन्होंने कहा कि हमें इससे मुक्त होना होगा। सिख लड़कियों पर हो रहे अत्याचार को रोकना सुनिश्चित करना होगा। उन्होंने कहा कि यह मामला गंभीर है। इस प्रकरण की जांच होनी चाहिए।वहीं लेबर पार्टी के एक अन्य सांसद वीरेंद्र शर्मा ने कहा है कि सिख लड़कियों पर हो रहे अत्याचार को रोकना और इस कलंक को खत्म करने के लिए कदम उठाने होंगे। उन्होंने कहा कि योजनाबद्ध तरीके से टार्गेट की जा रही लड़कियों के मुद्दे को गंभीरता के साथ उठाया जाएगा। बहुत ही निंदनीय घटना है। हम इस मामले को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उठाएंगे और ब्रिटिश सरकार को पत्र लिखकर पूरे मामले की गंभीरता से जांच करने की अपील करेंगे। उससे पहले कोशिश रहेगी कि ब्रिटिश हाईकमिशन के पास इस मुद्दे को पहुूंचाया जाए।

Loading...

Check Also

नया मोर्चा लगाएगा कांग्रेस के वोट बैंक में बड़ी सेंध

जालंधर:पंजाब के राजनीतिक इतिहास में रविवार का दिन अहम रहा। एक ही दिन में पंजाब ...