Home / हेल्थ &फिटनेस / यहां पर होता है गर्म लोहे से इन बीमारियों का इलाज, जानकर रह जाओगे हैरान

यहां पर होता है गर्म लोहे से इन बीमारियों का इलाज, जानकर रह जाओगे हैरान

आज भी इस जमाने में लोग इलाज के लिए झाड़फूक का सहारा ले रहे है। गावो में बीमारियों के इलाज को लेकर भी कई ऐसे तरीके अपनाए जाते हैं जो ना केवल अमानवीय हैं बल्कि जान से खिलवाड़ भी है। एक इलाका जहां बीमारी का इलाज लोहे की गर्म सलाखों को दाग कर किया जाता हैं, जी हां, गर्म सलाखों से छत्तीसगढ़ के कांकेर इलाके में लोग अपना ही नहीं बल्कि बच्चों का भी इलाज गर्म सलाखों से दगवाकर करवाते हैं, जिसे छत्तीसगढिया बोलचाल की भाषा में आंकना कहते हैं। ये 21वीं सदी में सबको हैरान कर देने वाली हकीकत हैं।

आपको बता दे की इस तरीके से बीमारियों का इलाज करने वाले वैद इसे पूरी तरह से कारगर होने का दावा करते हैं, जबकि इसका कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है। कांकेर जिले के हर पांच-दस गांव में एक ऐसा वैद्य मिल जाएगा, जो कथित तौर पर आंक कर ही कई रोगों का इलाज करता है। यहां इलाज़ मुफ्त में किया जाता है। इस इलाज़ में हंसियानुमा लोहे को आग में लाल कर लोगों के शरीर के उन हिस्सों को दागते हैं, जहां उसे तकलीफ होती हैं।

इस अवैज्ञानिक तरीके को पीड़ित लोग अपना भी रहे हैं और इससे आराम मिलने की बात भी कहते हैं। वहीं डॉक्टर इस तरीके को काफी खतरनाक और जानलेवा बताते हैं। यहां के लोग अनेक बिमारियों जैसे वैद्यरत्तीलकवा, गठिया, वात, मिर्गी, बाफूर, अंडकोष, धात रोग, बेमची, आलचा सहित कई अन्य रोगों का इलाज इसी विधि से करवाते आ रहे हैं।

आप को बता दे की यहां सिर्फ छत्तीसगढ़ के ही नहीं बल्कि ओडिशा। महाराष्ट्र से भी लोग आते हैं। दूरदराज़ से आने वाले मरीजों के रहने व खाने की व्यवस्था भी वैद्य अपने घर पर ही कराते हैं। यह सिर्फ कांकेर जिले में ही नहीं है, बल्कि सूबे के कई और जिलों में भी इसी तरह गर्म सलाखों से दागकर इलाज करने का दस्तूर आज भी जारी है और सरकार भी इस अंधविश्वास को रोकने के लिए कोई खास कदम नहीं उठा रही है।

Loading...

Check Also

Weight Loss: कूल्हों और पेट की चर्बी को कम करने के लिए करे ये उपाय

वैसे तो आजकल सबको High Size बट पसंद है। लेकिन कई लोग ज्यादा मोटे बट ...