Thursday , June 27 2019
Home / हेल्थ &फिटनेस / मेमरी लॉस का कारण लंबे समय तक बैठना भी हो सकता है

मेमरी लॉस का कारण लंबे समय तक बैठना भी हो सकता है

लंदन: यदि अगर आप भी ऑफिस में सिटिंग जॉब करते हैं तो थोड़ा सा सावधान होने की जरूरत है। लंबे समय तक एक जगह पर बैठे रहने से दिमाग में रक्‍त के संचार को धीमा कर देता है। इसके परिणाम घातक हो सकते हैं। एक स्टडी में बताया गया है कि यह लंबे समय तक बैठे रहना दिमाग के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए नुकसानदेह होता है।

लेकिन अगर आप हर आधा घंटे में उठकर दो मिनट के लिए टहल लें तो यह आपके दिमाग में रक्‍त के संचार को बढ़ाता है। दिमाग में खून का संचार होना हमारे शरीर की एक सामान्‍य प्रक्रिया है, जो कि जिंदगी के लिए आवश्‍यक है। इसकी वजह से ही ब्रेन पहचानने का काम कर पाता है। दिमाग की कोशिकाओं को भी ऑ‍क्‍सीजन और पोषक तत्‍वों की आवश्‍यकता होती है जो रक्‍त के संचार से उस मिलते हैं।

इसके अलावा दिमाग में कुछ बड़ी रक्‍त वाहिनी भी होती हैं जो खोपड़ी के भाग को रक्‍त पहुंचाने का काम करती हैं। मगर लंबे समय तक एक जगह पर टिककर बैठे रहने से यह पूरी प्रक्रिया प्रभावित होती है। इससे पहले मनुष्‍यों और जानवरों पर हुई स्‍टडी बताती हैं कि दिमाग में रक्‍त के संचार में थोड़ी सी भी रुकावट आने पर सोचने-समझने की क्षमता और मेमरी पर प्रभाव डालती है।

वहीं लंबे तक रक्‍त का संचार रुकने पर दिमाग से संबंधित बड़ी बीमारियों को जन्‍म दे सकता है। इनमें डेमेंशिया और मेमरी लॉस तक हो सकता है। लंबे समय तक बैठे रहने को लेकर पहले भी कई अध्‍ययन हो चुके हैं। इनमें बताया गया है कि लगातार बैठे रहने से शरीर के सभी हिस्‍सों में रक्‍त का संचार प्रभावित होता है।

इनमें सबसे ज्‍यादा असर हमारे पैरों पर पड़ता है। लंबे समय तक एक ही जगह पर और एक ही स्थिति में बैठे रहने से पैरों में अपंगता तक आ सकती है। शोधकर्ताओं ने ऑफिस में घंटों एक ही स्‍थान पर बैठकर काम करने वाले 15 लोगों पर इसके परिणाम को देखा। इन सभी ने 4 घंटे तक एक ही स्‍थान पर लगातार बैठकर काम किया।

ये लोग केवल बाथरूम जाने के लिए ही अपनी सीट से उठते थे। शोधकर्ताओं ने इनके हर ब्रेक से पहले और बाद के ब्‍लड सर्कुलेशन को ट्रैक किया। यहां तक कि 4 घंटे पूरे हो जाने के तुरंत बाद भी रक्‍त के संचार को लेकर स्‍टडी की गई। परिणाम वैसे ही प्राप्‍त हुए जैसा कि उम्‍मीद थी। 4 घंटे लगातार बैठने से दिमाग में रक्‍त का संचार कम हो गया था।

मगर उसके साथ ही ब्‍लड फ्लो बढ़ा भी जब उन्‍होंने 2 मिनट के लिए वॉक की। इस स्‍टडी को लीड करने वाली सोफी कार्टर ने ऑफिस में काम करने वाले लोगों को कुछ-कुछ देर में टहलने की सलाह दी है।

Loading...

Check Also

कई तरह के हृदय रोग से भी बचाता है छाछ

नई दिल्ली: गरमी के मौसम में स्वस्थ रहना है तो छाछ जरुर पीना चाहिए। इसमें ...