Thursday , June 27 2019
Home / उत्तर प्रदेश / मुख्यमन्त्री ग्रामोद्योग रोजगार योजनान्तर्गत ग्रामोद्योग बोर्ड ग्रामीण क्षेत्र के बेरोजगारों को उपलब्ध करायेगी रोजगार

मुख्यमन्त्री ग्रामोद्योग रोजगार योजनान्तर्गत ग्रामोद्योग बोर्ड ग्रामीण क्षेत्र के बेरोजगारों को उपलब्ध करायेगी रोजगार

राम कुमार सिंह रिपोर्टर

कुशीनगर। आज दिनांक 03 जून 2019 सोमवार को जिला ग्रामोद्योग अधिकारी ए0के0 पाल ने बताया कि उ0 प्र0 खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड ग्रामीण क्षेत्र के बेरोजगार नवयुवक, नव युवतियों/परम्परागत कारीगरो को स्वरोजगार के माध्यम से रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए मुख्यमन्त्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना संचालित है। ग्रामीण क्षेत्र के बेरोजगार नवयुवकों, नवयुवतियों, पराम्परागत कारीगरों जिनकी आयु 18 वर्ष से 50 वर्ष तक की है, को ग्रामीण क्षेत्र में ही ग्रामोद्योग की स्थापना हेतु अधिकतम रू0 10.00 लाख तक का ऋण बैंको के माध्यम से प्राप्त करने हेतु वित्तीय वर्ष 2019-20 का लक्ष्य विभाग/शासन से प्राप्त हुआ है।

उन्होने बताया कि योजनान्तर्गत सामान्य वर्ग (पुरूष) के अभ्यर्थी को 10 प्रतिशत व आरक्षित वर्ग (अनुसूचित जाति, अनुसूचित जन जाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक, महिला, भूतपूर्व सैनिक एवं दिव्यांग) वर्ग के अभ्यर्थी को परियोजना लागत 5 प्रतिशत स्वंय का अंशदान लगाना अनिवार्य है। योजना के तहत बैंक से वित्तपोषण उपरान्त सामान्य वर्ग के अभ्यर्थी को टर्म लोन (पूंजीगत ऋण) पर 4 प्रतिशत ब्याज स्वंय वहन किया जायेगा एवं उससे ऊपर का ब्याज उपादान के रूप में शासन /विभाग द्वारा दिये जाने का प्राविधान है

तथा आरक्षित वर्ग के लाभार्थी को टर्म लोन (पूंजीगत ऋण) पर समस्त ब्याज की धनराशि विभाग/शासन से ब्याज उपादान के रूप में उद्योग के सफलता पूर्वक संचालन पर दिये जाने का प्राविधान है। एक जनपद एक उत्पाद योजना के तहत जनपद कुशीनगर में केले के रेशे से बने उत्पाद उद्योग के लिए चयनित हे। ऐसे आवेदकों को लाभार्थी चयन में वरीयता दी जायेगी। इसके लिए योजना के पोर्टल www.http://cmegp.data-center.co.in  पर आन लाइन आवेदन करने की अन्तिम तिथि 15 जून 2019 तक है। आवेदन उपरान्त हार्डकापी समस्त संलग्नको सहित दो प्रति में जिला गा्रमोद्योग अधिकारी कार्यालय मे जमा करना होगा। विस्तृत जानकारी हेतु कार्यालय कार्य दिवस मे सम्पर्क किया जा सकता है।

 

 

Loading...

Check Also

सपा के मुस्लिम वोट बैंक को अपनी ओर खींचने के लिए मायावती ने बिछाई बिसात

लखनऊ: समाजवादी पार्टी (सपा) से नाता तोड़ने के बाद अब बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ...