Home / Home / मासूम को लापता हुए 24 घंटे से हुए ज्यादा, पुलिस खाली हाथ

मासूम को लापता हुए 24 घंटे से हुए ज्यादा, पुलिस खाली हाथ

गरियाबंद. दोपहर में घर से खेलने निकली मासूम के अचानक गायब हो जाने के बाद पुलिस महकमा चौकन्ना हो गया है। पुलिस की अलग-अलग टीमें मासूम को खोजने में लगी हुई हैं। उसके गायब हुए 24 घंटे से ज्यादा हो गए, लेकिन पुलिस को अभी तक कोई सुराग नहीं मिला है। मामले में डॉग स्क्वाॅयड की भी मदद ली जा रही है।

जिला मुख्य्यालय गरियाबंद से महज एक किमी दूरी पर बसे दर्रा पारा गांव में रविवार दोपहर 12 बजे के करीब घर से निकली लखन ध्रुव की पांच साल की बेटी धनमती अचानक गायब हो गई। उसे आखिरी बार उसकी सहेली के साथ दोपहर करीब 2 बजे देखा गया था। वो घर से ये कहकर निकली थी कि सहेली के घर जा रही है, लेकिन वहां नहीं पहुंची थी। परिजनों ने काफी खोजबीन की। जब वो नहीं मिली तो शाम करीब 7 बजे सिटी कोतवाली में बच्ची के गायब होने की रिपोर्ट दर्ज कराई।

देर रात एसपी एमआर अहिरे की मौजूदगी में गांव के आसपास पुलिस सर्च अभियान चलाई, लेकिन कोई सुराग नहीं लगने के बाद एएसपी सुखनंदन राठौर के अगुवाई में सुबह से पुलिस तलाशी अभियान चला रही है। अफसर लगातार लोगों से सम्पर्क कर लापता बेटी के गायब होने की पहेली को सुलझाने में लगे हुए हैं।

बता दें कि इसी गांव में 23 अक्टूबर 2018 को एक मासूम के साथ रेप कर शव दफना दिया गया था। मामले काआरोपी सलाखों के पीछे है। इस घटना के चलते ग्रामीण और डरे हुए हैं।

Loading...

Check Also

रोड दुघर्टना में मरने वालों की उम्र १८-२५ साल वालों की- गडकरी

केंद्रीय मंत्री माइक्रो स्माल एंड मीडियम इंटरप्राइजेज व रोड ट्रांसपोर्ट एंड हाइवेज नितिन गडकरी ने टीसीई सेफ सफर काअनावरण किया।कार्यक्रम में टीसीआई के डॉक्टर डी पी अग्रवाल, श्री विनीत अग्रवाल और श्री चन्दर अग्रवाल भी उपस्थित थे। गडकरी ने विशेष तौर से बने हुए पारिस्थितिकी अनुकूलित ट्रक का अनावरण कर टी सी आई को इसके लिए बधाई देते ए कहा “मैं सबसे पहले टीसीआई को इस प्रयास के लिए बधाई देता हूँ जो लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से टी सी आई सेफ सफर को ले कर आये हैं।हमारे देश में हर साल ५ लाख एक्सीडेंट होते हैं जिसमें १.५ मृत्यु होती हैं और अधिकतर मृतकों की आयु १८ से २५ होती है. इसके कारण कई परिवार बर्बाद तो होते ही हैं और जी डी पी भी ३% गिरती है। अगर सब इसमें सावधानी बरतें तो यह खबरें आनी बंद हो जाएँगी।