Tuesday , March 26 2019
Home / home / भीमा कोरेगांव हिंसा में सरकार के खिलाफ दलितों को लामबंद कर रही थी भाकपा

भीमा कोरेगांव हिंसा में सरकार के खिलाफ दलितों को लामबंद कर रही थी भाकपा

नई दिल्ली :महाराष्ट्र पुलिस ने बुधवार को बॉम्बे हाईकोर्ट को बताया है कि महाराष्ट्र के भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में गिरफ्तार और माओवादियों से जुड़े लोग दलितों को लामबंद करने की कोशिश में जुटे थे, ताकि भाजपा नीत महाराष्ट्र सरकार को सत्ता से उखाड़ फेंकने का भाकपा (माओवादी) का मकसद पूरा किया जा सके।

पुणे के पुलिस उपायुक्त शिवाजी पवार ने बुधवार को कहा कि इस संबंध में कोर्ट के समक्ष हलफनामा दायर किया गया है। इसमें आरोपितों में से एक अरुण फरेरा की जमानत अर्जी का विरोध किया गया है।

पुलिस ने फरेरा के अलावा आठ अन्य माओवादियों को पहले ही गिरफ्तार किया था। गिरफ्तारी के बाद फरेरा और गोंजाल्विस ने जमानत याचिका दायर की थी। इस पर बुधवार को ही न्यायमूर्ति पी.एन. देशमुख की अदालत में मामला पांच अप्रैल तक के लिए स्थगित कर दिया गया। पुलिस को गोंजाल्विस की याचिका के खिलाफ अभी हलफनामा दायर करना बाकी है।

पुणे की पुलिस ने हलफनामे में बताया कि फरेरा और अन्य आरोपित प्रतिबंधित संगठन भाकपा (माओ) के वरिष्ठ सदस्य हैं। वह सक्रिय रूप से प्रतिबंधित संगठन की गैर कानूनी गतिविधियों का समर्थन ही नहीं कर रहे बल्कि सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए भागीदारी भी निभा रहे हैं।

Loading...

Check Also

टी-शर्ट मार्केटिंग करने की बजाय पीएम के नेताओ को शिक्षामित्रों पर भी ध्यान देना चाहिए: प्रियंका

नई दिल्ली:कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने नमो ऐप के जरिए बेची जा रही टी-शर्ट, ...