Home / Home / भाजपा विधायक बलराम थावाणी की नामर्दगी, महिला को सरेआम मारी लात

भाजपा विधायक बलराम थावाणी की नामर्दगी, महिला को सरेआम मारी लात

नरोडा :गुजरात भारतीय जनता पार्टी का एक गढ कहा जाता है। आज उसी गढ में अहमदाबाद के नरोडा विघानसभा सीट के विधायक ने केसे एक महिला को सरेआम बची सढक पर लातों से पिटा। जिसकी तस्वीर इस घटना को बयां कर रही है। लेकिन अपने अधिकार के लिए गई महिला को ईस तरह पिटना क्या उचित है। कहा जाता हे कि विधानसभा सीट से विधायक थवानी जैसे विधायकों की संख्या के बलबूते बीजेपी ने सूबे में सरकार बनाई। लेकिन ‘विधायक’ वोट देने वाली जनता का आभार कैसे कर रहे हैं।

भारतीय जनता पार्टी महिला शसक्तिकरण की बातें करती कई बार नजर आई लेकिन क्या ये पिडीत नीतु सेजवानी को न्याय दिलाने में ये बातें काम लगेगी की इस घटना के उपर भी पर्दा डास डाल दिया जायेगा। लेकिन अगर न्यायिक रीत से ईस घटना को भारतीय जनता पार्टी देखती है तो ईसमें अब बलराम थवानी से इनका पद ही छीन लेना चाहिए।

मात्र पानी मांगने गई महिला को विधायक ने भेट में लात घुसे दिया
दरअसल ये मामला पानी की शिकायत को लेकर है। ये पीडित नीतु बलराम थवानी के वोर्ड मे रहती है जिसके घर काफी दिनों से पानी के लिए किल्लत हो रही थी लेकिन बीते दिन वो अपने हक के लिए पानी मांगने के लिए पहले वो कोर्पोरेटर किशोर थवानी के पास गई लेकिन वहां बात न बनने से वो नरोडा के विधायक बलराम थवानी के पास गई लेकिन वहां उसके पानी के बदले में भारतीय जनता पार्टी के होनहार विधायक ने और उनके छोटे भाई किशोर थवानी ने उनके उपर लात घुसे बरसाना चालु कर दिया लेकिन इतना हि नही उसे दप्तर से बहार निकालकर सरेआम भरे बाजार में रोड पर पिटा और विधायक ने लात भी मारी ।महिला सरेआम रोड पर चिखती चिल्लाती रही लेकिन बलराम थवानी की हरकत कुछ इस तरह की थी कोई उसके बचाने बीच में नही आया। महिला शसक्तिकरण का जीता जागता एक उदाहरण आज हमारे सामने आया है। महिला शसक्तीकरण अब इस शर्मनाक हरकत पर क्या कार्य करेगा ये तो समय ही बतायेगा।

पुरे गुजराम में भाजपा के विधायक नें लात मारी की बात पेल गई लेकिन स्थानिक पुलिस को ईस बात की खब़र ही नहि…
इस मामले को लेकर GNS के रिपोर्टर ने सुबह मेघाणीनगर पुलिस स्टेशन में कोल कर जानकारी लेना चाहिए लेकिन पुलिस ने साफ तोर पर ना कह दिया कि हमारे पास इसकी कोई जानकारी नहि है। क्या पुलिस ने कोई इसारे पर शिकायत दर्जस नही कि सरेआम विडियो में दिख रहा कि बलराम थवानी लात मार रहे है तो भी अब पुलिस को क्या सबुत चाहिये जिसके लिए स्थानिक पुलिस रुकी हुई हैा लेकिन समय पर मौजुद पुलिस अधिकारी और बलराम के साथ उनके भाई किशोर थवानी को भी उनके पद से हदा देना चाहिए। जो सरकार लोगों के हित में सोचती होगी तो शादय ये तीन को अपनी पोस्ट से हटायेगी।

अब मतलब साफ हे कि सत्ता हमारी, जनता हमारी, और दादागीरि भी हमारी बस आपको सहन करना पडेगा।
बलराम थवानी की इस शर्मनाक हरकत पर अभी तक भारतीय जनता पार्टी के नेतागढ़ चुप्पी साधे हुए है अगर यही कोई कांग्रेस के विधायक अथवा कार्यकर्ता ने किया होता तो अभी तक हंगामा मचा दिया होता। लेकिन अब इस मामले से बचने के लिए बलराम थवानी अपनी राय दे रहें हे कि मेने कोई लात नही मारी और जो मामला हुआ हे वो गलत हे उसकी निदां मे करता हुं। लेकिन जब चिडी़या गुंग गई खेत तो पाछे पछताये होत क्या। सत्ता के नशे में विधायक ने नीतु सेजवानी के उपर बरसाय लात घुसे को गुजरात ही नही पुरी दुनिया ने देख लिया है तो अब और क्या स्पष्ट करना पडेगा….?

जब नीतु सेजवानी ने ईस मामले में मिडीया से बात की कि मुझे बहुत बेहरहमी से पीटा है लेकिन आज एक महिला के साथ हुआ है अगर इस पर को कार्यवाही नही कि गई तो आगे और कोई विधायक करेगा जिससे बलराम थवानी को अब अपने विधायक पद से ईस्तिफा दे देना चाहिए।

Loading...

Check Also

विक्रम से संपर्क की उम्मीद खत्म!

नई दिल्ली : भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो के वैज्ञानिक अब भी अपने दूसरे मून मिशन ...