Saturday , November 17 2018
Home / Featured / भाजपा के भीष्म पितामह आडवाणी हुए 91 साल के, प्रधानमंत्री ने घर जाकर दी शुभकामनाएं!

भाजपा के भीष्म पितामह आडवाणी हुए 91 साल के, प्रधानमंत्री ने घर जाकर दी शुभकामनाएं!

नई दिल्ली। भाजपा के वरिष्ठ नेता और लौह पुरुष कहे जाने वाले लालकृष्ण आडवाणी गुरूवार को 91 वर्ष के हो गए। उनके जन्मदिन के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उन्हें बधाई देने उनके घर पहुंचे हैं। लालकृष्ण आडवाणी को भाजपा का भीष्म पितामह कहा जाता है। भारतीय जनता पार्टी को भारतीय राजनीति में एक प्रमुख पार्टी बनाने में उनका योगदान सर्वोपरि कहा जा सकता है।

वे कई बार भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रह चुके हैं। जब भी भारतीय जनता पार्टी के इतिहास की बात होगी देश के पूर्व उप-प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी की चर्चा के बिना वह अधूरी ही रहेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को भाजपा के वरिष्ठ नेता और सांसद लालकृष्ण आडवाणी को उनके 91वें जन्मदिन के अवसर पर शुभकामनाएं देते हुए कहा कि राष्ट्र निर्माण में उनका बहुत बड़ा योगदान है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी जन्मदिन की बधाई दी। उन्होंने ट्वीट किया- श्रद्धेय लालकृष्ण आडवाणी जी को जन्मदिवस की हार्दिक शुभकामनाएं, आपकी दीर्घायु व उत्तम स्वास्थ्य के लिये ईश्वर से प्रार्थना करता हूं। इसके अलावा, केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी लालकृष्ण आडवाणी को जन्मदिन की बधाई दी है।

आडवाणी का जन्म 8 नवंबर, 1927 को तत्कालीन पाकिस्तान के काराची में हुआ था। भाजपा की नींव को मजबूत करने में आडवाणी का बहुत बड़ा हाथ है। 1998 से लेकर 2004 तक राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार में गृहमंत्री थे। लालकृष्ण आडवाणी भारतीय जनता पार्टी के सह-संस्थापक और वरिष्ठ राजनेता हैं, जो 10वीं और 14वीं लोकसभा में प्रतिपक्ष के नेता रहे।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ‘भारत के विकास में आडवाणी जी का योगदान बहुत बड़ा है। मंत्री के तौर पर उनके कार्यकाल की प्रशंसा भविष्योन्मुखी निर्णय लेने और जनपक्षधर नीतियों के लिए की जाती है। उनकी विद्वता की प्रशंसा सभी राजनीतिज्ञ करते हैं।’ एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा, ‘पार्टी के वरिष्ठ नेता का भारतीय राजनीति पर अमिट प्रभाव पड़ा है। उन्होंने नि:स्वार्थ भावना और सतत परिश्रम से भाजपा को खड़ा किया और आश्चर्यजनक रूप से कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाया।’ आडवाणी का जन्म कराची (पाकिस्तान) में 1927 को हुआ था।

Loading...

Check Also

दुनिया की 10 सबसे खूबसूरत मस्जिदों की लिस्ट हुई जारी, एक भारतीय मस्जिद भी शामिल

दुनिया में कई धर्म है और इन धर्मों को मानने वालों की संख्या भी लाखों ...