Home / उत्तर प्रदेश / ब्लॉक मुख्यालय पर स्थित स्वतंत्रता सेनानी स्मारक उपेक्षा का शिकार

ब्लॉक मुख्यालय पर स्थित स्वतंत्रता सेनानी स्मारक उपेक्षा का शिकार

 सन 1972 में आजादी के 25 वर्ष पूरा होने पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानियोंकी याद में कराया गया सेनानी स्मारक का निर्माण 

सेनानी स्मारक के पास लगा गंदगी का अम्बार जो खोल रहा स्वच्छ भारत मिशन अभियान कापोल

जयप्रकाश कुशवाहा रिपोर्टर

कोटवा बाजार कुशीनगर। जनपद ब्लॉक नेबुआ नौरंगिया ब्लॉक मुख्यालय स्थित कोटवा कला चौराहे पर स्थापित सेनानी स्मारक के पास गंदगी से भरी नाली व जलजमाव के कारण उसके आसपास गंदगी का अम्बार लगा हुआ है। लेकिन ब्लाक स्तर के अधिकारियो का उसी रास्ते रोज आना जाना लगा रहता है। जो स्वच्छ भारत मिशन व विभागीय जिम्मेदार अधिकारियों का पोल खोल रहा बावजुद इसके उक्त अधिकारियो से कोई वास्ता सरोकार नही है।

बता दें कि आजादी के 25 वर्ष पूरा होने पर राष्ट्र की ओर से भारत सरकार द्वारा 1972 में विकासखंड नेबुआ नौरंगिया के स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों सर्वश्री जगरनाथ दुबे, बुधन, वदन, महादेव, मोल्हू, महावीर तेली, राम जी, सरजू, श्याम देव, सुकई, व श्याम बदन तिवारी की याद में सेनानी स्मारक का निर्माण कराया गया लेकिन उसका देख रेख न होने के कारण घीरे-धीरे इसकी हालत दैनीय होता चला गया।

जिसके बाद समाज सेवियों के बारण्बार प्रयास करने पर इसका पुनरुद्धार किया गया लेकिन सम्बन्धित विभागीय जिम्मेदारो की लापरवाही कारण सेनानी स्मारक के पास नाली में गंदगी भरा व जल जमाव उसके आस.पास गंदगी का अंबार लगा रहने से स्वतंत्रता सेनानी स्मारक शर्मसार हो रहा है। जबकि स्मारक से महज 7 मीटर की दूरी पर संघ का सरस्वती शिशु मंदिर विद्यालय, 11 मीटर की दूरी पर भारतीय स्टेट बैंक, 25 मीटर की दूरी पर इंटरमीडिएट कॉलेज, 20 मीटर की दूरी पर सहकारी बैंक तथा 150 मीटर की दूरी पर ब्लॉक मुख्यालय स्थित है।

लेकिन वर्षो से सेनानी स्मारक की यही स्थिति है। जबकि इसी रास्ते से सभी सरकारी कर्मचारी बराबर आते जाते रहते हैं परंतु किसी का भी स्वतंत्रता सेनानियों के स्मारक तरफ ध्यान नही जाता है जिससे स्मारक के आस पास पड़े गंदगी के अंबार को साफ कराया जा सकें। और न ही कभी सफाई कर्मी द्वारा इस गंदगी को साफ करने का प्रयास किया गया।

जब भी देश का जवान शहीद होता है तो इस क्षेत्र के कुछ गिने.चुने समाजसेवी लोग सेनानी स्मारक पर फूल माला अर्पित कर गंदगी साफ कराने का जिक्र जरूर करते हैं लेकिन कोटवा कला के मुख्य चौराहे पर स्थित सेनानी स्मारक जो भारत सरकार की एक सौग़ात है कि यह स्मारक उपेक्षा का शिकार है और ऐसे स्थति में पड़ा हुआ है। जबकि आजादी के 25 वर्ष पुर्ण होने पर  स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों का नाम दुर्लभ सुन्दर पत्थर के शिलापटट पर भारत सरकार द्वारा अंकित कराया गया इस ब्लाक के अलावा यह अन्य कहीं नही स्थापित है उक्त गाँव के लोग बहुत भाग्यशाली है कि इनके ग्राम सभा में स्थित सेनानी स्मारक सौभाग्य की बात है। 

उक्त प्रकरण के सम्बन्ध मे जब भाजपा के जिला महामंत्री बिंदा प्रसाद से बात की गयी तो उनके द्वारा बताया कि उक्त प्रकरण के सम्बन्ध मे खण्ड विकास अधिकारी व अन्य विभागीय जिम्मेदारो अवगत करा दिया गया है। लेकिन अभी तक किसी जिम्मेदार अधिकारियो द्वारा संज्ञान में नही लिया गया जिसके कारण ऐसी स्थिति बनी हुई है। अभी कुछ दिन पुर्व हम समाज सेवियों ने मिल कर इसका साफ सफाई कराया गया था। अब देखना यह है। कि आजादी के दिवानों की याद में बना सेनानी स्मारक पर कब घ्यान दिया जाता है ताकि उसकी साफ सफाई हो सके।

 

Loading...

Check Also

धूम धाम से मनाई गई डॉ. अम्बेडकर की 128 वीं जयंती

प्रेम चन्द्र खरवार सस्पेंस क्राइम न्यूज़ इंडिया टीवी चैनल संवाददाता रामकोला कुशीनगर। सोमवार को रामकोला ...