Tuesday , March 26 2019
Home / देश / बेर तोड़ने पेड़ पर चढ़े दो छात्रों की करंट लगने से मौत

बेर तोड़ने पेड़ पर चढ़े दो छात्रों की करंट लगने से मौत

नूंह:बिजली की तारों की चपेट में आने से दो छात्रों की मौत हो गई। दोनों छात्र बेरी के पेड़ पर बेर तोडऩे के लिए चढ़े थे, लेकिन पेड़ समीप गुजर रही बिजली की तारों की चपेट में आने से मौत हो गई। पुलिस ने मौके पर पहुंच शवों को कब्जे में लिया। नूंह सीएचसी में पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया। वहीं पुलिस मामले की आगामी कार्रवाई में जुटी हुई है। रोजकामेव थाना क्षेत्र के अंतर्गत रूपाहेड़ी गांव के रहने वाले रोबिन पुत्र फारूख और रोहित पुत्र प्रकाश गुरूवार शाम खेत में पढ़ाई करने के लिए गए थे। दसवीं कक्षा में पढऩे वाले दोनों छात्र बोर्ड की चल रही परीक्षाओं को लेकर तैयारी कर रहे थे। इस दौरान खेत समीप लग रहे बेरी के पेड़ पर बेर तोडऩे दोनों चढ़ गए। पेड़ समीप गुजर रही बिजली तारों में दोनों छात्र बेर तोड़ते समय टच हो गए और दोनों की मौके पर मौत हो गई।

देर शाम तक घर नहीं पहुंचे दोनों छात्रों के परिजनों को चिंता सताने लगी। परिजनों ने इधर-उधर संपर्क किया, लेकिन दोनों का कोई पता नहीं लग पाया। शुक्रवार सुबह जब ग्रामीण खेतों की ओर गए तो दोनों छात्रों को मृत पाया गया। रोबिन और रोहित की मौत की खबर जैसे ही गांव में फैली तो सनसनी फैल गई। लोगों की भीड़ मौके पर जमा हो गई। अपने बच्चों को मृत देखकर परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया।
छात्रों की मौत की खबर रोजकामेव थाना पुलिस को दी।

पुलिस सूचना पाते ही मौके पर पहुंची और शवों को कब्जे में लिया। वहीं परिजनों का आरोप है कि बिजली िनगम की लापरवाही के चलते उनके बच्चों की मौत हो गई है। खेतों से गुजर कर जा रही बिजली की तारें नीचे झुकी थी। जिसकी ओर निगम प्रशासन ने ध्यान नहीं दिया। इस बारे में ग्रामीणों द्वारा निगम को शिकायत भी दी गई, लेकिन अनदेखी व लापरवाही की गई। वहीं जांच अधिकारी एएसआई चंद्रपाल ने कहा कि पुलिस मामले की आगामी कार्रवाई में जुटी हुई है। पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया।

Loading...

Check Also

वन क्षेत्र से आदिवासियों को बेदखल करने के खिलाफ दायर याचिकाओ पर सुनवाई करेगा SC

नई दिल्ली:सुप्रीम कोर्ट वन क्षेत्र से आदिवासियों को बेदखल करने के खिलाफ दायर याचिका पर ...