Home / व्यापार / बेडरूम में स्मार्ट टीवी रखने वाले हो जाएं सावधान!

बेडरूम में स्मार्ट टीवी रखने वाले हो जाएं सावधान!

सूरत. टेक्नालॉजी के फायदे हैं, तो उसके नुकसान भी बहुत हैं। इसका दुरुपयोग कई बार हमें शर्मसार कर सकता है। बेडरूम में स्मार्ट टीवी का होना खतरनाक है। उसके दुरुपयोग के दो मामले सामने आए हैं। जिसमें एक दम्पति ने पोर्न साइट में अपना ही वीडियो देखा, तो उनके हाेश उड़ गए।

हेकर्स ने अंतरंग पलों का बनाया वीडियो
स्मार्ट टीवी से बेडरूम के निजी पलों की जासूसी की दो दिनों में दो घटनाएं सामने आई है। हैकर ने बिना किसी सिस्टम के ही स्मार्ट टीवी से पहले दंपती के निजी पलों का वीडियो बनाया और फिर नेट पर डाल दिया। घटना का पता तब जब दंपती ने वीडियो नेट पर देखा। नेट पर वीडियो देखकर वह हैरान रह गया। इस परेशानी से निजात पाने के लिए मकान मालिक साइबर क्राइम एक्सपर्ट से सलाह ले रहे हैं। घटना के सामने आने के बाद बेडरूम से स्मार्ट टीवी हटाने का भी सिलसिला शुरू हुआ है। यद्यपि साइबर एक्सपर्ट की वीडियो डिलीट करवा दिया और आगे की सुरक्षा की सलाह ली है।

लोग सहमे हुए हैं
शहर के 2 अलग अलग इलाकों में रहने वाले लोगो के साथ स्मार्ट टीवी से जासूसी की घटनाओं ने लोगो की परेशानी बढ़ा दी है । 2 परिवार जिस वक्त अपने बेडरूम में निजी पल में शामिल थे। उस वक्त हैकर ने उनकी स्मार्ट टीवी को हैक कर लिया और उनके निजी पलों का वीडियो और फोटो बना लिया। जिसके बाद उनका वीडियो नेट पर डाल दिया। एक हैकर ने वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। लेकिन जब पीड़ित को इसकी जानकारी मिली तो उन्होंने अपने निजी एक्सपर्ट से राय लेकर समस्या का समाधान किया। इस घटना से अब लोग थोड़ा डरे हुए है।

एक मामले में ऐसे हुआ खुलासा 
बेडरूम के निजी फोटो और वीडियो जब खुद पीड़ित ने देखा तो उन्हें यह समझ नही आया कि आखिर यह वीडियो आया कहां से है? जिसके बाद उन्होंने इसकी जानकारी साइबर एक्सपर्ट स्नेहल वकील से की तो उन्होंने इसका खुलासा किया और टेक्निकल तरीके से वीडियो को साइट से डिलीट किया, लेकिन मामले की शिकायत थाने में नही की गई। बताया गया कि ऐसे कई और भी मामले सामने आ सकते हैं।

पीड़ित को वीडियो मेल कर ब्लैकमेल किया 
दूसरे मामले में तो हैकर ने बेडरूम का वीडियो बनाकर पीड़ित को ही मेल कर ब्लैकमेलिंग की कोशिश की। बता दें कि दो साल पहले वॉशिंगटन में स्मार्ट होम डिवाइसेस के खतरों पर हुई कॉन्फ्रेंस में प्राइवेसी एक्सपर्ट ने माना था कि, स्मार्ट होम गैजेट के पास इतना डेटा होता है, जिससे प्राइवेसी को खतरा हो सकता है। ड्यूक यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर अश्विन मैकहैनव झाला ने बताया था कि स्मार्ट मीटर आपको बता सकते हैं कि आपके घर पर कोई है और किस एप्लायंसेस का उपयोग कर रहा है। स्मार्ट टीवी और वॉयस असिस्टेंट बातचीत को रिकॉर्ड कर सकते हैं, जिनमें से कुछ को थर्ड पार्टी के साथ साझा भी किया जा सकता है। स्मार्ट डिवाइसेस डेटा को क्लाउड में भेज देती हैं, ताकि डेटा को एल्गोरिदम के जरिए एनालाइज किया जा सके। एक बार जब डेटा को क्लाउड में भेज दिया जाता है, तो यूजर उस डेटा पर अपना कंट्रोल खो देते हैं। इसके बाद आपकी निजता खतरे में पड़ जाती है।

ब्लैकमेल किया था 
साइबर एक्सपर्ट डाक्टर चिंतन पाठक ने बताया कि हैकरों ने उनके बेडरूम से निजी पलों का वीडियो बनाकर उन्हें ब्लेक मेल भी किया था और बिट क्वाइन की मांग की थी लेकिन मेरे ई मेल के बाद हैकरों ने दुबारा मेल नही किया। लेकिन उन्होंने जांच में पाया कि रूम ले लगे स्मार्ट टीवी की वजह से ऐसे हुआ।
-डाॅ. चिंतन पाठक, साइबर एक्सपर्ट

शिकायत नहीं की गई है
इस मामले में साइबर क्राइम के इंस्पेक्टर जेबी आहिर ने कहा कि ऐसा कभी सुनने में नही आया, लेकिन यदि ऐसा हो रहा है तो चिंता विषय है यदि कोई शिकायत आई तो इस पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी क्यों कि मामला काफी गंभीर है।

गंभीर मामला है, सख्त कार्रवाई की जाएगी 
साइबर एक्सपर्ट स्नेहल वकील ने बताया कि बेडरूम में लगे स्मार्ट टीवी को इंटरनेट कनेक्शन से चलाया जाता है। जिसकी वजह से टेलीविजन में लगे सॉफ्टवेयर को हैकर अपने एक्सेस में शामिल कर लेते है। यदि कोई एप्लीकेशन टीवी में डाउनलोड किया जाता है तो उसका एक्सेस हैकर खुद अपने पास ले लेते है और सीधे तौर पर टीवी को अपने कब्जे में ले लेते है। जब टीवी इंटरनेट से जुड़ा हुआ होता है,  तो बहुत आसानी से हैकर फ्रंट कैमरे के माध्यम से सभी वीडियो और फोटो ले लेते हैं। उन्होंने सलाह दी है कि उपभोक्ता स्मार्ट टीवी में एप न रखें, कोई लिंक सेव ना करें।
-स्नेहल वकील, साइबर एक्सपर्ट

Loading...

Check Also

रियल एस्टेट क्षेत्र में सुस्ती का दौर, नई परियोजनाओं में आई 45 फीसदी की कमी

  नई दिल्ली :सरकार की तमाम कोशिशों के बावजूद रियल एस्टेट क्षेत्र सुस्ती से उबर ...