Saturday , July 20 2019
Home / मनोरंजन / बन चुकी है लाखों का हौसला,कैंसर को हराकर कराया ब्राइडल फोटोशूट

बन चुकी है लाखों का हौसला,कैंसर को हराकर कराया ब्राइडल फोटोशूट

कैंसर के खिलाफ लड़ाई में लोग कई बार इतना टूट जाते है कि वो अपनी खुशियों से दूरियां बना लेते है लेकिन वहीँ  कुछ लोग ऐसे भी होते है जिन्होंने पूरी हिम्मत के साथ कैंसर के खिलाफ जग लड़ी और जीते भी है साथ ही  दूसरे लोगों के लिए प्रेरणा के स्त्रोत भी बने। ऐसे ही शख्सियत में से एक है वैष्‍णवी पूवनेंद्रण। चलिए जानते है कैसे उन्होंने कैंसर से जीत हासिल की। अगर आप इंटरनेट इस्तेमाल करते होंगे तो कैंसर सर्वाइवर वैष्‍णवी पूवनेंद्रण की ब्राइडल लुक की तस्वीरें जरूर देखीं होंगी क्योंकि इन दिनों इनकी तस्वीरे सोशल मीडिया पर काफी ज्यादा वायरल हो रही है |
वैष्णवी की इस ब्राइडल लुक की तस्वीरों को जब आप पहली नजर में देखेंगे तो आपको इसमें बॉलीवुड अभिनेत्री सोनाली बेंद्रे की झलक दिखाई देगी लेकिन जब आप गौर से देखेंगे तो पहचान पाएंगे की ये सोनाली नहीं बल्कि वैष्णवी है और खास बात ये है की सोनाली बेंद्रे की तरह वैष्णवी की कैंसर सर्वाइवर रह चुकी है  |
आपको बता दे सोशल मीडिया पर छाई इस दुल्हन की खूबसूरत तस्वीरें जिसे, साहसी भारतीय दुल्हन का नाम दिया गया है, एक ब्रैस्ट कैंसर सर्वाइवर हैं। जिन्होंने समाज की रूढ़िबद्ध धारणा को पीछे छोड़ते हुए ये फोटोशूट कराया है और साथ ही कैंसर पीड़ित  लोगो के लिए एक बहुत ही प्यारा सन्देश भी  भी दिया है  जो इस बीमारी से जूझने के बाद टूट जाते है और जिंदगी के हसीन लम्हे जीना ही छोड़ देते है |

कौन है वैष्‍णवी पूवनेंद्रण?

वैष्णवी पूवनेंद्रण इंस्टाग्राम पर नवी इन्द्रन पिल्लई के नाम से मशहूर हैं जो पेशे से मोटिवेशनल स्‍पीकर और डांसर है। वैष्णवी को 5 साल में 2 बार कैंसर की शिकायत हुई। उन्होंने दोनों बार कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी को मोत दी और सभी कैंसर पीड़ित और कैंसर सर्वाइवल लोगों को हिमम्त बन गई है। उऩ्होंने पोस्ट के जरिए बताया की उन्हें एक समय लगा था की वो अब कैंसर मुक्त हो गई है पर 5 साल बाद कैंसर उनकी जिंदगी में वापस लौट आया और उनके लिवर के साथ-साथ रीढ़ की हड्डी में फ़ैल गया।
इसके बाद वैष्णवी को बहुत सारी कीमोथेरेपी से गुजरना पड़ा और आखिरकार साल 2018 में उन्होंने कैंसर को मात दी लेकिन इस दौरान उन्होंने अपने सरे बाल खो दिए थे | इस तरह कैंसर के खिलाफ जंग  जितना बेहद मुश्किल रहा मगर वैष्णवी के लिए लेकिन फिर भी इन्होने  कभी अपनी हिम्मत टूटने नहीं दी।वैष्णवी का कहना हैं, ‘मुझे जिंदगी को खुशनुमा बनाने के लिए कोई चीज नहीं रोक सकती, यहाँ तक की  कैंसर भी नहीं!’ वैष्णवी द्वारा इस ब्राइडल फोटोशूट को करवाने का कारण न लड़कियों के अंदर जज़्बा जगाना है जिनका दुल्हन बनने का ख़्वाब कैंसर ने छीना है। उऩ्होंने इसे फोटोशूट को इंस्‍टाग्राम पर शेयर किया है और इसे ‘The Bold Indian Bride’ नाम दिया है।

कैंसर भी नहीं छिन सकता खूबसूरती

वैष्णवी का कहना है वो अपने प्यार से शादी करना चाहती थी और दुल्हन की तरह सजने संवारने की उनकी बड़ी ख्वाहिश थीं। मगर कैंसर के इलाज के दौरान कीमोथेरेपी हुई जिसमें उन्होंने ने अपने बाल खो दिए लेकिन अपना सपना नहीं।इसलिए उन्होंने ब्राइडल फोटोशूट करवाया और हर वो श्रृंगार किया जो एक दुल्हन अपनी शादी के दिन करती हैं। वो चाहती है की हर शख्स कैंसर के खिलाफ लड़ाई में ऐसी ही दिलेरी दिखाए।
यह फोटोशूट कैंसर पीड़ित उन महिलाओं के लिए संदेश है कि वह बोल्‍ड भी हैं और ब्‍यूटी‍फुल भी। उनका कहना है कि कैंसर भी आपकी खूबसूरती को नहीं छीन सकता वही वैष्णवी के इस फोटोशूट के पीछे छिपे संदेश की खूब सराहना हो रही है।
Loading...

Check Also

मम्मी की तरह मस्त है इस अदाकारा की बेटी का मिजाज, उम्र है मात्र 14 साल

बीते जमाने की मशहूर अदाकारा रवीना टंडन से आप भी अच्छी तरीके से वाकिफ होंगे। ...