Home / हेल्थ &फिटनेस / फलों के छिलके भी है बडे काम की चीज,कई गंभीर बीमारियों में आते है काम

फलों के छिलके भी है बडे काम की चीज,कई गंभीर बीमारियों में आते है काम

नई दिल्ली :कई अध्‍ययनों में पाया गया है, कि न केवल फल-सब्जियां, बल्कि उनके छिलके भी आपको कई बीमारियों से दूर रखने में मददगार हैं। आयुर्वेद एक्सपर्ट की माने तो संतरे के छिलके का इस्‍तेमाल त्‍वचा संबंधी समस्‍याओं को दूर करने के लिए किया जाता है लेकिन यही संतरा या मौसमी का छिलका आपके कलेस्‍ट्रॉल को कंट्रोल रखने में मदद कर सकता है। रॉयल सोसायटी ऑफ मेडिसन के अनुसार, संतरे या मौसमी जैसे फल के छिल्‍के में सुपर-फ्लैवोलॉयड पाया जाता है, जो कि शरीर में बैड कलेस्‍ट्रॉल को कम करने में मदद करता है। इसके लिए आप संतरे या मौसमी के छिलके का जूस बनाकर सेवन कर सकते हैं या फिर आप चाहें, तो इसके छिलके को कद्दू कस करके सूप या सब्‍जी में मिलाकर सेवन कर सकते हैं। केले का छिलका आपके तनाव को दूर करने में मदद कर सकता है।

क्‍योंकि केले के छिलके में फील गुड हॉर्मोन ‘सेरोटोनिन’ पाया जाता है। सेरोटोनिन एक महत्वपूर्ण ब्रेन-केमिकल है, जो आपके मूड को बेहतर बनाता है और आपकी उदासी को दूर करने के साथ आपको डिप्रेशन या तनाव को दूर करने में मदद करता है। इसके साथ ही इसमें ‘ल्‍यूटिन’ नामक ऐंटीऑक्‍सिडेंट्स भी मौजूद होते हैं, जो कि आपकी आंखों को अल्‍ट्रावायलेट किरणों से बचाकर मोतियाबिंद के खतरे को कम करते हैं। इसके लिए आप केले के छिलके को 1 ग्लास पानी में डालकर 10 मिनट के लिए उबालें और फिर ठंडा करने के बाद आप इस पानी को पिएं।

लहसुन के छिलके आप में से अधिकतर लोग, तो फेंकते ही होंगे। लेकिन ‘एक शोध में लहसुन के छिलके में ‘फिनायलप्रॉपेनॉयड’ नाम के ऐंटीऑक्सिडेंट्स पाये जाते हैं, जो कि ब्‍लड प्रेशर के साथ ही लो-डेन्सिटी लाइपोप्रोटीन यानी बैड कलेस्ट्रॉल को कम करने के साथ आपको दिल संबंधी बीमारियों से दूर रखता है। इसके लिए आप रोजाना दो कली लहसुन की छिलके के साथ खाएं। इसके अलावा, लहसुन ब्‍लड प्रेशर कंट्रोल करने, डायबिटीज व कैंसर से बचाव में मददगार है। आमतौर पर आप में से अधिकतर लोगों ने आलू के छिलके का उपयोग डार्क सर्कल्‍स को दूर करने के लिए सुना होगा। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि आलू के छिलके में कितने पौष्टिक तत्‍व पाये जाते हैं, जो कि शरीर को कई बीमारियों से दूर रखने में मदद करता है? इसलिए यदि आप आलू का छिलका निकालकर सब्‍जी बनाते हैं, तो इस आदत को छोड़ दें और आलू की छिलके सहित सब्‍जी बनाएं। यदि आलू की सब्‍जी पसंद न हो, तो आप आलू के चिप्‍स बनाकर भी खा सकते हैं। इससे आपको आयरन, विटमिन सी, जिंक और पोटैशियम भरपूर मात्रा में मिलेगा।

Loading...

Check Also

पाएं आकर्षक लुक,अब हेयर कलर की जगह करें कलर चाक का इस्तेमाल

बालों का कलर करने का लड़कियों में एक अलग ही ट्रेंड है। आजकल अधिकतर लड़कियों ...