Home / उत्तर प्रदेश / पुलिस के डर से भयभीत होकर ट्रेन के आगे कूदकर अधेड़ ने दी जान

पुलिस के डर से भयभीत होकर ट्रेन के आगे कूदकर अधेड़ ने दी जान

 

फतेहपुर चौरासी /उन्नाव

पत्नी से पैसे को लेकर पति से हुए विवाद में पति ने पुलिस के डर से  भयभीत  होकर बालामऊ कानपुर पैसेंजर ट्रेन के सामने कूद कर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली ।राहगीरो की सूचना पर पहुँची पुलिस ने शव की पहचान करा पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।


प्राप्त जानकरी के अनुसार
फतेहपुर चौरासी क्षेत्र के अन्तर्गत कस्बा ऊगू मोहल्ला गन्नूखेडा निवासी मिथिलेश कठेरिया पुत्र मौजी लाल उम्र 52 वर्ष म्रतक पर बीती रात पत्नी सिद्धी ने चार लाख रूपये चोरी का इल्जाम लगाया था और मार पीट भी की थी और इतना ही नहीं सिद्धी ने पुलिस चौकी में प्रार्थना पत्र भी दिया ।प्रार्थना पत्र पर पुलिस ने मिथिलेश को चौकी बुलाकर पुछताछ भी की और दूसरे दिन सुबह चौकी आने को कहा था। वही ग्रामीणों में चर्चा है कि मिथिलेश सुबह उठकर पास में बने हनुमान मान मन्दिर के दर्शन कर ऊगू स्टेशन क्रासिंग से गांव दरौली की तरफ करीब सौ मीटर जाकर सुबह कानपुर से बालामऊ जाने वाली पैसेंजर ट्रेन के आगे आकर अपनी जान दे दी। वही कस्बा निवासी  डाक्टर गोबिंद किसी काम से दरौली जा रहे थे उन्होंने ही मृतक की पहचान कर  परिजनों को फोन द्वारा सूचित किया ।


जिसकी सूचना पाकर परिजनों में कोहराम मच गया ।मौके पर पहुँची थाना सफीपुर पुलिस ने शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया ।मृतक की 3 शादिया हुई थी। जिसमे सिध्दी तीसरी पत्नी थी जो अपने दो लडको के साथ दिल्ली में रहती है बड़ा लडका साहिल कार डिलीवरी का काम करता है दूसरा लड़का शनि जो ई रिक्सा चलवाता है इतना ही नही म्रतक के दिल्ली में खुद के पाचं मकान है 
।म्रतक की कस्बे में घर पर चप्पल की दुकान किये था ।पड़ोस के लोगों में चर्चा है कि मिथिलेश की बहन का लडका नान्हू सिंहपुर निवासी जो अपने मामा मिथिलेश के पास रहता था ।मृतक के भाई, मां,का कहना है की पैसा नन्हू ने चुराया है ।मृतक की दुसरी पत्नी की एक पुत्री थी नेहा जिसका विवाह कानपुर के उतरी पूरा में कर दिया गया था और पत्नी सिद्धी जल्द ही निमन्त्रण करने गाँव आई थी ।
अचानक घटित इस घटना से पूरे मोहाल में शोक की लहर है।सूत्रो की माने तो थाना फतेहपुर चौरासी का एक तथाकथित दरोगा चार दिन  से रोज चौकी बुलाकर  मारा पीटा गया व गाली गलौज करके टार्चर कर रही थी और कल शुक्रवार को लगभग 3 घण्टे कस्टडी में रखा और अगले दिन सुबह 8 बजे फिर चौकी आने को कहा। जिससे भयभीत होकर मिथलेश ने सफीपुर कोतवाली क्षेत्र के दरौली गांव के समीप आज शनिवार सुबह 7:30 बजे कानपुर के तरफ से आ रही कानपुर बालामऊ ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली।

 

रिपोर्ट-योगेंद्र गौतम 

उन्नाव

Loading...

Check Also

पिता ने नाबालिग बेटी का पांच हजार में सौदा किया; जबरन करा दी युवक से शादी, मां ने दर्ज कराया केस

पीलीभीत. यहां बीसलपुर थाना इलाके के बीसलपुर कस्बा निवासी एक पिता ने अपनी नाबालिग बेटी को ...