Home / हेल्थ &फिटनेस / पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं में यूटीआई अधिक होने के पीछे कई कारण, ऐसे करें बचाव

पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं में यूटीआई अधिक होने के पीछे कई कारण, ऐसे करें बचाव

पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं में यूटीआई अधिक होने के पीछे कई कारण होते हैं। कई यूटीआई एक बार होने के बाद बार-बार होने लगता है और इसी कारण से वेजाइनल इंफेक्शन भी हो जाता है। ये एक ऐसा इंफेक्शन है जो शरीर को अंदर ही अंदर खोखला करता जाता है। कई बार ये बढ़ते हुए यूट्रेस तक भी पहुंच जाता है। यूटीआई इतना गंभीर होता है कि इसके कारण कई बार फीवर तक आ जाता है। यही नहीं ये यूट्रेस तक पहुंच जाए तो प्रेग्नेंसी तक में दिक्कत हो सकती है। आइए आज इसके कारणों को जानने के साथ ही इससे बचने के तरीके भी जानें।

यूटीआई की वजह
यूटीआई होने की वजह कई हो सकती है। पहला अगर आप बार-बार पब्लिक टॉयलेट यूज करते हों, कमोड स्टाइल टॉयलेट, अनसेफ सेक्स, सेक्स के बाद यूरिन न करना या उसे साफ न करना और एक ही पैंटी को पूरी दिन पहने रहना। पैंटी एक बड़ा कारण होता है यूटीआई के लिए क्योंकि वेजाइनल डिसचार्ज समान्यत: हर फीमेल को होता है और पैंटी इससे गीली रहती है और इससे यीस्ट पनपने लगते हैं और इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है।

यूटीआई का लक्षण
यूटीआई का सबसे पहला लक्षण हैं बार बार यूरीन आना और यूरीनेशन के समय जलन। ये जलन तेजीसे बढ़ती जाती हैं और यूरीन बूंद-बूंद होती हैं लेकिन ऐसा लगता है जैसे ब्लैडर फुल हो। लोअर एब्डमन में दर्द होना है, कई बार यूरीन से ब्लड आना, फीवर, पैरों तक दर्द जाना जैसे लक्षण नजर आने लगते हैं। यूटीआई होने पर बुखार आने का मतलब है कि संक्रमण किडनी तक पहुंच गया है।

यूटीआई से बचने के उपाय
– दिन में दो बार अपनी पैंटी को बदलें। अगर गीलापन महसूस हो तो तुंरत पैंटी निकाल दें। रात में सोते हुए पैंटी न पहनें।
– ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं। ताकि इंफेक्शन को यूरीन के जरिये बाहर किया जा सके।
– पीरियड्स में कम से कम तीन बार पैड चेंज करें। वेजाइनल डिसचार्ज के लिए अगर पैंटी लाइनर यूज करती हों तो उसे भी बदलती रहें।
–  सेक्स के बाद यूरीन पास जरूर करें और अपने वेजाइनल ऐरिया को अच्छे से वॉश करें।
– वेजाइनल एरिया सूखा रहे इसका ध्यान रखें।
– अपने टॉयलेट को साफ रखें। पब्लिक टॉयलेट यूज करने से बचें, खास कर कमोड को।

Loading...

Check Also

सब्जी का छिलका करेगा आपके बालों को काला

कम उम्र में बाल सफ़ेद होना कोई बढ़ी बात नहीं है, आज कल के बढ़ते ...