Home / विदेश / पाकिस्तान में लड़कियों के पैर फैलाकर बैठने पर भी है रोक, वजह है हैरान करने वाली

पाकिस्तान में लड़कियों के पैर फैलाकर बैठने पर भी है रोक, वजह है हैरान करने वाली

पाकिस्तान में महिलाओं की स्थिति कैसी है इस बात का अंदाजा आज आपको पता लग जाएगा दर्शन पाकिस्तान में महिलाओं के अधिकार की प्रदर्शन में एक पोस्टर के खिलाफ जंग जारी हो गई है इस प्रदर्शन में शामिल लड़कियों व महिलाओं को बलात्कार की धमकी दी जा रही है इसमें खास बात तो यह है कि पुरुषों के अलावा महिलाएं भी इस प्रदर्शन का विरोध कर रही है। यह पोस्टर रमीसा लखानी और रशीदा शब्बीर हुसैन नाम की लड़कियों द्वारा तैयार किया गया है, जो कराची के हबीब विश्वविद्यालय में पढ़ती है। जिसमें एक लड़की को फर्श पर बैठे हुए दिखाया गया है। पोस्टर पर उर्दू में लिखा गया है- “यहां, मैं सही तरीके से बैठी हु।

 

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, रुमीसा संचार डिजाइन की छात्रा है, जबकि रशीदा सामाजिक विकास और नीति का अध्ययन कर रही है। दोनों में बहुत गहरी दोस्ती है रमिसा का कहना है कि ‘वुमन’ नाम के शो में हिस्सा लेना एक बेहतरीन विचार था। इस प्रदर्शन में बड़ी संख्या में महिलाओं ने भाग लिया। LGBT समुदाय के लोगों ने भी भाग लिया। हालाँकि, लड़कियों द्वारा पाकिस्तानी कट्टरपंथियों के इस कदम से बहुत धक्का लगा है। उनका कहना है कि लड़कियों के पैर फैलाकर बैठने से समाज पर बुरा असर पड़ता है।

 

सोशल मीडिया पर एक वर्ग ने महिलाओं के प्रदर्शन के बारे में भी कहा कि उन्हें ऐसे समाज की आवश्यकता नहीं है। मार्च के आयोजकों में से एक, मोनिज़ा ने कहा कि प्रदर्शन के बाद रेप और हत्या की धमकियां मिलनी शुरू हो गई है परंतु इससे हमें कोई फर्क नहीं पड़ता। ज्यादातर महिलाओं को सोशल मीडिया पर बलात्कार की धमकी दी गई है। एक प्रमुख नारीवादी, ने कहा है कि रूमीसा और रशीदा के प्लेकार्ड और अन्य पोस्टर परंपराओं और मूल्यों का अपमान समान था। हालांकि, ऐसे कई लोग हैं जो पोस्टर और मार्च का समर्थन कर रहे हैं।

Loading...

Check Also

श्रीलंका सीरियल विस्फोट: अबतक 310 की मौत, 40 संदिग्ध गिरफ्तार

कोलंबो:श्रीलंका में गत रविवार को हुए सीरियल विस्फोट में मृतकों की संख्या बढ़कर 310 हो ...