Saturday , March 23 2019
Home / हेल्थ &फिटनेस / पथरी कैसे होती है और क्यों होती है

पथरी कैसे होती है और क्यों होती है

अनियमित जीवनशैली ने पथरी के मरीजों की संख्या इतनी ज्यादा बढ़ा दी है कि आज पथरी होना एक आम बात समझा जाने लगा है लेकिन पथरी एक आम रोग नहीं है बल्कि एक तकलीफदेह रोग है। किडनी के इस रोग में बहुत दर्द सहन करना पड़ता है, यूरिन इन्फेक्शन भी हो सकता है और किडनी को नुकसान भी पहुँच सकता है। ऐसे में पथरी के बारे में आपको भी जानकारी लेनी चाहिए। तो चलिए, आज बात करते हैं पथरी के बारे में जानते हैं और पथरी कैसे होती है।

यूरिन में कैल्शियम ऑक्जलेट के इकट्ठा होने से धीरे-धीरे कुछ वक्त बाद मूत्रमार्ग में कठोर पदार्थ जमा होने लगता है जिसे पथरी कहा जाता है। पथरी अक्सर 30 से 60 साल की उम्र में होती है लेकिन अब बच्चों में भी ये समस्या देखी जाने लगी है। महिलाओं की तुलना में पुरुषों में पथरी कहीं ज्यादा देखी जाती है। लगभग 60 प्रतिशत मामलों में पथरी का कारण आनुवंशिकी होता है।

मूत्रमार्ग में होने वाली पथरी अलग-अलग आकार की हो सकती है। ये रेत के कण जितनी भी हो सकती है और गेंद जितनी बड़ी भी हो सकती है। पथरी अक्सर किडनी, मूत्रवाहिनी और मूत्राशय में होती है।

पथरी बनने के कारण-

  • पानी कम पीने की आदत
  • मूत्रमार्ग में बार-बार इन्फेक्शन होना
  • मूत्रमार्ग में रुकावट होना
  • हाइपर पैराथायराइडिज्म से ग्रस्त होना
  • विटामिन-सी की ज्यादा मात्रा का सेवन करना
  • वंशानुगत पथरी होना

पथरी के लक्षण-

  • पेट और पीठ में लगातार दर्द होना
  • उल्टी आना
  • यूरिन में जलन होना
  • यूरिन में खून आना

पथरी से बचाव-

  • पानी ज्यादा मात्रा में पीने की आदत डालें
  • कैल्शियम की आवश्यक मात्रा खाद्य पदार्थों से लें, ना कि सप्लीमेंट्स से
  • पथरी बनाने वाले खाद्य पदार्थों (चुकंदर, पालक, चॉकलेट, कोला, मेवे, चाय) का सीमित मात्रा में सेवन करें

एक बार पथरी होने के बाद दोबारा पथरी होने की सम्भावना लगभग 80% होती है इसलिए हर मरीज को इस ओर सतर्क बने रहने की जरुरत होती है।

Loading...

Check Also

ज्यादातर पढ़ी-लिखी महिलाएं अपनी शैक्षिक योग्ताओं को बर्बाद नहीं होने देना चाहती

अवन्तिका को शुरू से ही नौकरी करने का शौक था. ग्रेजुएशन के बाद ही उसने ...