Monday , May 27 2019
Home / बिहार / नालंदा लोकसभा सीटः नीतीश-मांझी की प्रतिष्ठा दाव पर, JDU और HAM प्रत्याशी में होगी कांटे की टक्कर

नालंदा लोकसभा सीटः नीतीश-मांझी की प्रतिष्ठा दाव पर, JDU और HAM प्रत्याशी में होगी कांटे की टक्कर

पटना:बिहार में इस बार के लोकसभा चुनाव में सातवें और अंतिम चरण में नालंदा सीट पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की प्रतिष्ठा दांव पर है। बिहार में सातवें तथा अंतिम चरण के लिये 19 मई को नालंदा में मतदान होना है। वर्ष 1999 से लेकर 2014 तक के लोकसभा चुनाव में जदयू ही यहां से जीत हासिल करती रही है। इस कारण नालंदा संसदीय क्षेत्र को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का सुरक्षित दुर्ग माना जाता है।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा संसदीय सीट पर पूरे देश की नजरें टिकी हुई है। इस बार सियासी लड़ाई काफी रोचक होगी। महागठबंधन की ओर से हम की टिकट पर अशोक कुमार आजाद प्रत्याशी बनाए गए हैं वहीं राजग ने जदयू के निवर्तमान सांसद कौशलेन्द्र कुमार को प्रत्याशी बनाया है। नालंदा की सियासी लड़ाई नीतीश बनाम मांझी की बन गई है। नालंदा में मुद्दे की जगह जातीय गोलबंदी ही हावी दिख रहा है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने नालंदा में काफी विकास के कार्य किए हैं। जदयू प्रत्याशी कौशलेन्द्र कुमार प्रधानमंत्री मोदी, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के चेहरे और राष्ट्रवाद के मुद्दे पर वोट मांग रहे हैं वहीं महागठबंधन उम्मीदवार अशोक कुमार आजाद जातियों को गोलबंद करने के साथ बेरोजगारी, नोटबंदी और राजग की ओर से पिछले चुनाव में किए गए वादे को पूरा नहीं किए जाने के मुद्दे को लेकर मतदाताओं को अपने पक्ष में करने में लगे हैं।

Loading...

Check Also

पार्टी चाहती है कि चिराग बनें मंत्री: पासवान

पटना : लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष राम विलास पासवान ने शनिवार को कहा कि ...