Home / हेल्थ &फिटनेस / नामर्द बनाने के लिए काफ़ी हैं ये तीन चीजें शास्त्रों के अनुसार पुरुषो को

नामर्द बनाने के लिए काफ़ी हैं ये तीन चीजें शास्त्रों के अनुसार पुरुषो को

जिस तरह से हमारे शास्त्रों में नपुंसकता को दूर करने के लिए अलग-अलग तरह की दवाओं का जिक्र किया गया है, उसी तरह से हमारे शास्त्रों में नपुंसकता को लाने के लिए भी कुछ चीजों का जिक्र है। जैसे कि हमारे साधू-संत होते हैं तो उनके लिए कामवासना को रोकना बहुत ही जरुरी होता है तो वह लोग इन चीजों का उपयोग करते थे। आज हम आपको कुछ ऐसी ही चीजों का बताने वाले हैं जिनके उपयोग से एक पुरुष बड़ी आसानी से नपुंसक हो जाता है…..

1. आम का अचार

आपने सुना ही होगा कि पुरुष को आम का अचार खाने से मना किया जाता है. इसके पीछे का जो मुख्य कारण है वह यही है कि आम का अचार यदि एक पुरुष लगातार खाता है तो उसके अन्दर नपुंसकता आ जाती है। इसीलिए पुरुषों को खट्टा नहीं खाना चाहिए।

2. केले के पेड़ की जड़

यह बात सबसे अधिक प्रचलित है कि यदि किसी व्यक्ति को केले के जड़ का रस पानी में मिलाकर पिला दिया जाए तो इससे वह व्यक्ति कुछ ही दिनों में नपुंसक बन जाता है। आपके यहाँ यदि केले का पेड़ गमले में है तो ध्यान दें कि केले के पेड़ की कुछ जड़े गमले से बाहर निकल रही होंगी, तो उन्हें काटकर, उनका रस पीसने के बाद निकाल लें और इसको पानी में मिलाकर कुछ दो बार से तीन बार पी लेने के बाद पुरुष में नपुंसकता आ जाती है।

3. आंवला

अगर आप किसी को नामर्द ही बनाना चाहते हैं तो आप उस व्यक्ति को आंवला खिलाते रहें. आपने आजतक आंवला के फायदे ही सुने होंगे लेकिन एक साधू की मानें तो कामवासना को ख़त्म करने के लिए वह लोग आंवला काफी खाते हैं। इसका शारीरिक लाभ तो होता है किन्तु साथ में नपुंसकता भी आती रहती है।

Loading...

Check Also

कान पर बाल शुभ होते हैं या अशुभ, एक क्लिक में जानिए जवाब

इंसान के शरीर से जुड़े कुछ ऐसे रहस्य है जिन्हे हर कोई नहीं जानता है ...

बॉस के साथ स्मोकिंग करने वालों को जल्द प्रमोशन

नई दिल्ली:वर्कप्लेस पर अगर कोई पुरुष सिगरेट ब्रेक पर जाता है तो वह अक्सर महिलाओं ...

क्रू मेंबर्स को कैंसर का खतरा औसत से होता हैं ज्यादा: स्टडी

पैरिस:फ्लाइट के क्रू मेंबर्स के सदस्यों में कैंसर होने का खतरा औसत से बहुत ज्यादा ...

लिखने से दूर हो सकती है महिलाओं की शरीर के प्रति असंतुष्टि

न्यूयॉर्क। एक हालिया अध्ययन में खुलासा हुआ है कि अपनी शारीरिक प्रभाव को लेकर असंतुष्ट ...