Saturday , July 20 2019
Home / झारखण्ड / दो कहानी,दो महिलाएं : एक लुटेरों से भिड़ गई; दूसरी खुद अपराधी, 100 से ज्यादा लड़कियों को बेचा

दो कहानी,दो महिलाएं : एक लुटेरों से भिड़ गई; दूसरी खुद अपराधी, 100 से ज्यादा लड़कियों को बेचा

रांची. ओल्ड एचबी राेड में तीन लुटेराें ने एक महिला का चेन और मंगलसूत्र छीन लिया। उसके पति और देवर काे चाकू मारकर घायल कर दिया। यह देख महिला अकेले ही लुटेराें से भिड़ गई और उन्हें भागने पर मजबूर कर दिया। बुधवार काे लाेअर बाजार थाने की पुलिस ने उस महिला साेनी देवी का बयान दर्ज किया। वहीं, मांडर की नाबालिग लड़की काे दिल्ली में बेचने वाली अनिता उरांव (35) काे बुधवार काे जेल भेज दिया गया। अनिता काे पुलिस ने मांडर से गिरफ्तार किया था। दिल्ली ले गई, जहां नाबालिग काे बरामद करने के बाद फिर रांची लेकर आई। यहां पुलिस की पूछताछ में उसने दिल दहला देने वाला खुलासा किया..।

गर्व का चेहरा

साेनी ने कहा-मैं काेकर स्थित हैदर अली राेड में रहती हूं। मंगलवार काे पति पंकज के साथ नवादा से नटराज बस से रांची आ रही थी। रात दाे बजे हमलाेग कांटाटाेली बस स्टैंड पहुंचे। एक दुकान पर चाय पी रहे थे। तीन लड़के मुझे घूर रहे थे। तीनाें 20-22 साल के थे। मैं अपने देवर साैरभ काे बाइक लेकर आने के लिए फाेन कर रही थी। तब एक लड़का आगे चला गया और दाे लड़के मेरी बात सुनने लगे। साैरभ के आने के बाद हम तीनाें एक ही बाइक से कांटाटाेली से काेकर स्थित घर जाने लगे।

कुछ दूर चलते ही ओल्ड एचबी राेड में दाे लड़के आए। हमारी बाइक की हैंडल पकड़ ली। साैरभ ने उसका हाथ खींचकर हटाया ताे दूसरे लड़के ने मेरा हाथ पकड़कर खींच दिया। मैं गिर गई। देवर और पति मुझे उठाने के लिए आगे बढ़े ताे दाेनाें युवकाें ने चाकू से उन पर हमला कर दिया। चाकू लगने से मेरे पति की आंत बाहर आ गई। फिर दाेनाें अपराधी मेरी ओर बढ़ मुझे खींचने लगे। मेरे गले से साेने की चेन और मंगलसूत्र खींच लिया। पहले ताे मैंने शाेर मचाया। फिर पत्थर उठाकर उनसे भिड़ गई। लुटेराें पर पत्थर फेंकने लगी। इसके बाद लुटेरे भाग निकले। इसके बाद कुछ लाेग आए। पुलिस भी पहुंची। घायल पति और देवर काे लेकर रिम्स गईं। पति की स्थिति अब भी गंभीर है।

 

शर्म का चेहरा

अनिता ने कहा-मैं मांडर की खुखरा गांव की रहने वाली हूं। 17-18 साल पहले अपनी मर्जी से आलम अंसारी के साथ शादी की थी। मेरे चार बच्चे हैं। पिछले 10 साल से ट्रैफिकर का काम कर रही हूं। मांडर और आसपास की लड़कियाें काे काम दिलाने के बहाने झांसे में लेती थी। पैसे का लालच देकर दिल्ली ले जाती थी और प्लेसमेंट एजेंसी काे बेच देती थी। अब तक 100 से अधिक लड़कियाें काे दिल्ली ले जाकर प्लेसमेंट एजेंसी काे बेच चुकी हूं।

एक लड़की के बदले प्लेसमेंट एजेंसी मुझे हर महीने पांच हजार रुपए कमीशन देती है। जिस नाबालिग काे अभी हाल ही में दिल्ली में बेचा था, उससे तीन-चार महीने पहले ही मुलाकात हुई थी। लड़की ने बताया था कि उसके पिता उससे अच्छा व्यवहार नहीं करते। उसकी दाे मां हैं। वह दिल्ली में काम करना चाहती है। इसके बाद उसने नौकरी दिलाने की बात कही। उसे लेकर ट्रेन से दिल्ली गई। वहां अमर काॅलाेनी में एक प्लेसमेंट एजेंसी काे घरेलू काम के लिए उसे बेच दिया।

पांच हजार रुपए महीने की बात हुई थी। इसके बाद प्लेसमेंट एजेंसी ने उसे राेहिनी अपार्टमेंट में नीना कपूर के यहां घर का काम करने के लिए भेज दिया। दिल्ली में प्लेसमेंट एजेंसी मुझसे जिन लड़कियाें काे लेता है, उन्हें काम देने की एवज में मालिक से हर महीने 15 हजार रुपए लेता है। इनमें से पांच हजार लड़की काे, पांच हजार प्लेसमेंट एजेंसी काे और पांच हजार रुपए ट्रैफिकर काे हर महीने मिलते हैं।

Loading...

Check Also

चारा घोटाला: लालू जमानत के बाद भी जेल में रहेंगे

रांची: राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद को चारा घोटाले के देवघर कोषागार से 90 लाख की ...