Home / Home / देशभर में अब तक मानसून सामान्य, महाराष्ट्र में औसत से 31% ज्यादा बारिश, हरियाणा में 35% कम

देशभर में अब तक मानसून सामान्य, महाराष्ट्र में औसत से 31% ज्यादा बारिश, हरियाणा में 35% कम

नई दिल्ली. देशभर में बारिश का दौर जारी है। मध्य प्रदेश, केरल और महाराष्ट्र समेत 23 राज्यों में बुधवार को भारी बारिश का अनुमान है। मौसम विभाग के मुताबिक, मानसून के शुरुआती समय में कम बारिश होने के बावजूद जुलाई के आखिर और अगस्त के शुरुआती दिनों में बारिश औसत से ज्यादा हुई। महाराष्ट्र समेत 6 राज्य ऐसे हैं, जहां औसत से ज्यादा बारिश हुई है। 21 राज्यों में बारिश सामान्य का आंकड़ा छू चुकी है। दिल्ली-हरियाणा समेत सिर्फ 9 ऐसे राज्य हैं जहां बारिश औसत से कम है। जुलाई के अंत तक देश में जहां सामान्य से 9% कम बारिश हुई थी, वहीं अगस्त के शुरुआती दो हफ्तों में यह फर्क भी खत्म हो गया।

इन राज्यों में बारिश सामान्य से ज्यादा
सबसे ज्यादा बारिश वाले राज्यों की बात करें तो इसमें दादरा नगर हवेली, महाराष्ट्र और सिक्किम काफी आगे हैं। पिछले साल दादरा नगर हवेली में 1506.7 मिमी बारिश हुई थी, जो कि इस साल बढ़कर 2672.4 मिमी पहुंच गई। यह सामान्य से 77% ज्यादा है। वहीं महाराष्ट्र में अब तक सामान्य से 31% ज्यादा बारिश हो चुकी है। मध्यप्रदेश में भी अब तक 8% ज्यादा बारिश हुई है।

इन पांच राज्यों में सबसे ज्यादा बारिश दर्ज

राज्यइस साल बारिश (मिमी में)पिछले साल बारिश (मिमी में)कितनी ज्यादा
दादरा नगर हवेली2672.41506.777%
महाराष्ट्र889.4676.931%
सिक्किम1306.21049.125%
गुजरात597.3483.324%
कर्नाटक684.1569.120%

मणिपुर में सबसे कम बारिश

कम वर्षा वाले राज्यों की बात करें तो सबसे ऊपर पूर्वोत्तर में स्थित मणिपुर का नंबर है। यहां सामान्य से 59% कम बारिश हुई है। देश की राजधानी दिल्ली में भी हालात खराब हैं। यहां सामान्य से 41% कम बारिश हुई है। हरियाणा में अब तक बारिश का आंकड़ा सामान्य से 35% और झारखंड में 34% कम रहा है।

इन पांच राज्यों में कम बारिश दर्ज

राज्यइस साल बारिश (मिमी में)पिछले साल बारिश (मिमी में)कितनी कम
मणिपुर393.2957.7-59%
दिल्ली216.5364-41%
हरियाणा178.7275.6-35%
झारखंड433.5655.4-34%
उत्तराखंड536.3766.2-30%

मौसम विभाग का 23 राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट

मध्य प्रदेश, केरल और महाराष्ट्र समेत 23 राज्यों में बुधवार को भारी बारिश का अनुमान है। मौसम विभाग ने बारिश को लेकर चेतावनी जारी की है। भोपाल में सुबह से तेज बारिश हो रही है। बीते 24 घंटे में भारी बारिश के कारण ओडिशा में 6, उत्तर प्रदेश में 4 और हिमाचल में 2 लोगों की मौत हो गई। जबकि पांच दिनों में केरल में 95, कर्नाटक में 50 लोगों की जानें गईं।

तमिलनाडु के नीलगिरि जिले में मंगलवार को 140 जगहों पर भूस्खलन हुआ। हालांकि, इससे कोई जनहानि नहीं हुई। मौसम विभाग ने केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु और महाराष्ट्र समेत समुद्र तटीय इलाकों के लिए अलर्ट जारी किया। अरब सागर क्षेत्र में 55 किमी की रफ्तार से हवाएं चलने की संभावना जताई गई। मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की सलाह भी दी गई।

कर्नाटक-केरल में 6 लाख से ज्यादा बेघर

केरल-कर्नाटक में 6 लाख से ज्यादा लोग बेघर हो गए, जबकि 2 हजार को राहत शिविर में पहुंचाया गया। वायुसेना ने कर्नाटक में 25 पर्यटक समेत 500 लोगों को एयरलिफ्ट कर बचाया। छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में केलो नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। जिला प्रशासन ने भारी बारिश के कारण स्कूल की छुट्टी घोषित कर दी। मध्यप्रदेश के मंदसौर में घरों में पानी भर गया। वहीं, हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में बाढ़ के कारण हाईवे पर आवागमन बाधित हो गया।

केरल के वायनाड में भूस्खलन से 12 की मौत
केरल के वायनाड जिले में भूस्खलन 12 लोगों की मौत हो गई, जबकि 7 अब भी गायब हैं। मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने कहा कि मलप्पुरम और वायनाड में भारी बारिश के बाद भूस्खलन में अब तक 43 की मौत हो चुकी। मुख्यमंत्री ने बाढ़ में मरने वालों के परिजनों को 4 लाख रु. सहायता राशि देने का ऐलान किया। सांसद राहुल गांधी ने अपने लोकसभा क्षेत्र वायनाड पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए आग्रह किया।

स्काईमेट के मुताबिक, इन 10 शहरों में पिछले 24 घंटों में सबसे ज्यादा बारिश दर्ज

शहरराज्यबारिश (मिलीमीटर में)
रीवामध्यप्रदेश153
ब्रह्मपुरीमहाराष्ट्र129
अगातीलक्ष्यद्वीप समूह121
सतनामध्यप्रदेश117
कोच्चीकेरल106
कोट्टायमकेरल106
ओरईउत्तरप्रदेश104
होन्नावरकर्नाटक100
थ्रिस्सूरकेरल91
दमोहमध्यप्रदेश83

महाराष्ट्र के पुणे संभाग में 48 की मौत
महाराष्ट्र में पुणे संभाग में भारी बारिश और बाढ़ में अब तक 48 लोग जान गंवा चुके हैं। प्रशासन ने बताया कि पुणे, सांगली, कोल्हापुर, सतारा और सोलापुर जिले के 584 गांव से 4,74,226 लोगों को रेस्क्यू किया गया। इनके लिए 596 राहत शिविर बनाए गए। बाढ़ के कारण पुणे जिले के 46 गांवों से कनेक्शन टूट चुका है। मौसम विभाग के मुताबिक पांच जिलों पुणे, सांगली, कोल्हापुर, सतारा और सोलापुर में अगले 24 घंटे लगातार बारिश होने की संभावना है।

Loading...

Check Also

नागरिकता संशोधन विधेयक : क्या है झूठ एवं वास्तविकता, जानें अंतर

नई दिल्ली : नागरिकता संशोधन विधेयक-2019 सोमवार को लोकसभा में पारित हो गया और बुधवार ...

उत्तराखंड : विधानसभा में अग्रिम जमानत बहाल करने वाला विधेयक पारित

देहरादून : उत्तराखंड विधानसभा में दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 438 को बहाल करने वाला ...

जल्द दिखेंगे स्मार्ट सुविधाओं से लैस पब्लिक टॉयलेट

अलीगढ़ :  नगर आयुक्त सत्य प्रकाश पटेल ने स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत प्रधानमंत्री की ...

100 करोड़ 99 लाख रूपये की ग्रांट मिलने पर जताया अमुटा ने आभार

अलीगढ़ :  अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी टीचर एसोसिएशन (अमुटा) ने अमुवि के मल्लापुरम तथा मुर्शिदाबाद केन्द्रों ...