Saturday , July 20 2019
Home / Home / दूसरे सेमीफाइनल में नहीं दिख रहा उत्साह भारत की हार के बाद

दूसरे सेमीफाइनल में नहीं दिख रहा उत्साह भारत की हार के बाद

Birmingham: Vacant seats at the Edgbaston Cricket Stadium ahead of the the second semi-final of the 2019 World Cup between England and Australia in Birmingham, England on July 11, 2019. Team India’s ouster from the tournament on Wednesday seems to have impacted the overall interest in the showpiece event as well. (Photo: IANS)

आईसीसी विश्व कप-2019 का दूसरा सेमीफाइनल गुरुवार को एजबेस्टन क्रिकेट ग्राउंड पर आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेला जा रहा है, लेकिन इस मैच में दर्शकों द्वारा ज्यादा उत्साह देखने को नहीं मिल रहा है। स्टेडियम तक पहुंचने वाली सड़कें खाली हैं, इस माहौल को देखकर ऐसा प्रतीत हो रहा है कि भारत के विश्व कप से बाहर होने का बाकी के टूर्नामेंट पर असर पड़ा है क्योंकि सभी ने टिकट इसलिए कराए थे कि वह देखना चाहते थे कि भारत से फाइनल में किसका सामना होगा। इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया के मैच में जब टॉस हुआ तब काफी सीटें खाली पड़ी थीं।

विश्व कप की आयोजन समिति के एक वोलेंटियर ने आईएएनएस से कहा कि यह विश्वास करना मुश्किल है कि दो पुराने प्रतिद्वंद्वी यहां नॉकआउट मैच खेल रहे हैं।

उन्होंने कहा, “भारत के जाने के बाद, ऐसा लग रहा है कि सब कुछ खत्म हो चुका है। कुछ दिन पहले इसी मैदान पर भारत और इंग्लैंड का मैच हुआ था और तब मैदान पूरा पैक था। हमें भारतीय प्रशंसकों को संभालने में काफी मुश्किल हुई थी। वह खिलाड़ियों को स्टेडियम के अंदर आते देखना चाहते थे, उनके साथ फोटो खिंचवाते हुए देखना चाहते थे।”

उन्होंने कहा, “और आज, दरवाजे खुलने के एक घंटे बाद तक बहुत कम लोग ही मैदान के अंदर आए थे। हां, यह मैच सप्ताह के बीच में है, लेकिन विश्वास कीजिए कि अगर भारत विश्व कप में बने रहता तो चीजें काफी अलग होतीं।”

वोलेंटियर ने चैम्पियंस ट्रॉफी 2017 का फाइनल याद करते हुए कहा कि इस समय मैदान के बाहर लंबी कतारें थीं।

उन्होंने कहा, “चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल में जब भारत और पाकिस्तान का मैच था तब मैं वहां था। उस समय दर्शक दरवाजे खुलने के घंटों बाद तक स्टेडियम के बाहर खड़े थे। भारत और पाकिस्तान के बीच के मैच का जुनून अलग ही है। मुझे नहीं लगता कि इस बार फाइनल में उस जैसा माहौल होगा।”

Loading...

Check Also

राज्यपाल के पास कुमारस्वामी सरकार को बर्खास्त करने का अधिकार

बेंगलुरु. कर्नाटक के मौजूदा राजनीतिक घटनाक्रम में तीन किरदार हैं- मुख्यमंत्री, विधानसभा स्पीकर और राज्यपाल। राज्यपाल ...