Home / Home / दल-दल घूम रहे केसीआर के पीछे कौन है….?

दल-दल घूम रहे केसीआर के पीछे कौन है….?

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्ररशेखर राव जो की राजनीति में केसीआर के नाम से जाने जाते है वे पिछले कुछ समय से भारत भ्रमण कर रहे है। तेलंगाना में सरकार बनाने के बाद केसीआर ने लोकसभा के चुनाव में भी अपने उम्मीदवार खडे किये है। चुनाव परिणाम आने से पहले ही वे भिन्न भिन्न दलों के नेताओ से मिलकर केन्द्र में सरकार बनाने की कवायद कर रहे है। लेकिन केसीआर की ये मूवमेन्ट के पीछे भाजपा का कमल नहं हाथ होने की अटकलें लगाइ जा रही है।

राजनितिक सूत्रो के अनुसार भाजपा के नेताओ को लग रहा है या ऐसे संकेत मिले हो कि इस बार फिर से मोदी सरकार नहीं बन रही। यदि ममता-मायावती के इशारे पर सरकार बनी या कांग्रेस के समर्थन से सरकार बनती है तो मोदी सरकार ने पांच साल में लिये बडे फैंसले की जांच हो सकती है। जिस में नोटबंदी-जीएसटी और रफाल विमान सौदा मुख्य है। कांग्रेस और राहुल ने तो सीधे सीधे बताया है की केन्द्र मों सरकार बदलते ही मोदी जेल जायेंगे। उनके निर्णयो की जांच होंगी।

सूत्रो के अनुसार यदि ऐसा होता है तो मोदी और अमित शाह को राजनितिक नुकशान होने से रोकने हेतु केन्द्र में एक ऐसी सरकार बने जिसे भाजपा बाहर से समर्थन दे कर बनाये। ताकी मोदी सरकार के विवादी फेंसलो की जांच ना हो और पांच साल तक ये विवादी निर्णयो पर पर्दा ही पडा रहे। ऐसी सरकार बनाने की जिम्मेवारी केसीआर को सौपी गइ हो सकती है। और इसीलिये वे दल दल घूम कर मोदी-शाह को आनेवाले संभावित दलदल में से बचाने का बिडा ले कर नोताओ से मिल तो रहे है लेकिन उनकी दाल कुछ गल नहीं रही।

सूत्रो ने बताया की केसीआर को उतना तवज्जु नहीं मिल रहा। उनकी बात नेतागण सुन रहे है। लेकिन सभी को ऐसा लग रहा है की मोदी की फिर से सरकार नहीं बन रही तो केसीआर किसका एजन्डा लेकर घूम रहे है। केसीआर खुद उपप्रधानमंत्री बनने की राह और चाह में है लेकिन क्या उनकी यह राह आसान है…?

Loading...

Check Also

उप्र में कांग्रेस ढूढ़ रही है कंधे पार्टी का भार मजबूती से उठा सके इसके लिए

लखनऊ , लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस हाईकमान ने प्रदेश की सभी ...