Tuesday , June 18 2019
Home / उत्तर प्रदेश / ट्रैफिक नियमो की धज्जियां उडाती हैं युवा वर्ग की महिलाये

ट्रैफिक नियमो की धज्जियां उडाती हैं युवा वर्ग की महिलाये

लखनऊ : अक्सर आपने लोगो को कहते हुए सुना होगा की महिलाए अछि ड्राईवर नहीं होती हैं. जहा बात आती है नियमो का पालन करने की तो 10 में से करीब 4 ऐसी महिलाये या फिर युवतियां होंगी जो की नियमो का पूर्ण रूप से पालन करेंगी . जब बात आती है इस पर एक्शन लेने की तो पुलिस भी इसपे ज्यादा ध्यान नहीं देती है.

 स्कूटी पर ट्रिप्लिंग करना: अक्सर ये देखा गया है की महिलाये रोड पर ट्रिप्लिंग कर पूरे धड़ल्ले से अपनी स्कूटी दौड़ा रही होती हैं . अपनी साथियों को लेकर पूरी स्पीड में गाडी गाडी चलाती हैं. जब की ये नियम का उल्लंघन करती हैं और इस पे कोई ट्रैफिक पुलिस उनको रोकने की हिम्मत नहीं करता है. और उसी जगह पर पुरुष अगर ट्रिप्प्लिंग करके चले तो उसको तुरंत रोक लिया जाता है .

फैशन में बिना हेलमेट धड़ल्ले से गाडी दौड़ना: 10 में से 2 ऐसी महिलाये होंगी जो हेलमेट लगाना सही समझती है . बाकी रोड पर बिना हेलमेट के स्कूटी चलती हैं और नियमो का उल्लंघन करती है. और पुलिस का इसपे कोई एक्शन नहीं आता है . हेलमेट इसलिए नहीं लगाती है क्युकी उनकी ख़ूबसूरती बिगड़ न जाये .

ड्राइविंग लाइसेंस के बिना स्कूटी व कार चलाना : देखा गया है कि  पुरुषो के मुकाबले महिलाये बिना लाइसेंस के गाडिया चलाती हैं और इसमें कई ऐसी महिलाये भी होती है जिन्होंने लाइसेंस बनवाया भी नहीं होता है .

sorry” बोल कर छूट जाती हैं युवा वर्ग की महिलाये : नियमो का उल्लंघन करने वाली महिलाये अक्सर “sorry” बोल कर छूट जाती है . उनके खिलाफ एक्शन नही लिया जाता है.

 गलती के बाद बहसबाज़ी करना : ट्रैफिक पुलिस के रोके जाने पर बहसबाजी करने लगती हैं महिलाये . गलती होने के बावजूद गलती नहीं मानती हैं और लडाई करने लगती हैं .

ट्रैफिक पुलिस नहीं करती सही से काम :  ट्रैफिक पुलिस नियमो का पालन नहीं करने वाले के खिलाड़ कोई एक्शन नहीं लेती है . यहाँ तक की महिलाओ को रोका भी नहीं जाता अगर वो बिना हेलमेट के चलती है .

लेडी कांस्टेबल का होना ज़रूरी : हर चेकपॉइंट पर लेडी कांस्टेबल का होना ज़रूरी है . जिससे नियमो को तोड़ने वाली महिलाओ के खिलाफ एक्शन लिया जा सके . जबतक ठीक ढंग से रूल्स को रेगुलेट नहीं किया जायगा तब तक ट्रैफिक नहीं सुधर पायेगा .

Loading...

Check Also

गोरखपुर में 181.82 करोड़ रुपये की लागत से 121.34 एकड़ में बनेगा प्राणि उद्यान

लखनऊ: उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में मंगलवार को प्रदेश कैबिनेट की बैठक में ...