Sunday , March 24 2019
Home / मनोरंजन / जुगनू कभी रोशनी के मोहताज नहीं होते दोस्त

जुगनू कभी रोशनी के मोहताज नहीं होते दोस्त

जब टूटने लगे होसले तो बस ये याद रखना,

बिना मेहनत के हासिल तख्तो ताज नहीं होते,

ढूंड लेना अंधेरों में मंजिल अपनी,

जुगनू कभी रौशनी के मोहताज नहीं होते।

खुशबू बनकर गुलों से उड़ा करते हैं,

धुआं बनकर पर्वतों से उड़ा करते हैं,

 

ये कैंचियाँ खाक हमें उड़ने से रोकेगी,

हम परों से नहीं हौसलों से उड़ा करते हैं

छू ले आसमान, जमीन की तलाश ना कर,

जी ले जिंदगी, ख़ुशी की तलाश ना कर,

तकदीर बदल जाएगी खुद ही मेरे दोस्त,

मुस्कुराना सीख ले, वजह की तलाश ना कर |

Related image

Loading...

Check Also

Filmfare : आलिया ने रणबीर से कहा ‘I Love You’, गले लगाकर किया Kiss

फिल्मफेयर अवॉर्ड्स की रात बीटाउन के लव बर्ड्स रणबीर कपूर और आलिया भट्ट के लिए ...