Home / विदेश / जज ने सजा के तौर पर सिख धर्म का अध्ययन करने का आदेश दिया

जज ने सजा के तौर पर सिख धर्म का अध्ययन करने का आदेश दिया

सलेम :अमेरिका में जज ने ऑरेगन प्रान्त के एक व्यक्ति को सिख समुदाय के एक व्यक्ति पर हमला करने के जुर्म में सजा सुनाई है। सजा के तौर पर दोषी को सिख धर्म का अध्ययन करने और उस पर एक रिपोर्ट पेश करने को कहा गया है। अमेरिका में सिख नागरिक अधिकारों के सबसे बड़े संगठन ‘द सिख कोलिशन’ ने एक बयान जारी करके बताया कि दोषी एंड्र्यू रामसे ने 14 जनवरी को हरविंदर सिंह डोड को धमकाने और उन पर हमला करने का जुर्म कबूल किया। बयान में कहा गया कि धमकाने के आरोप को ‘घृणा अपराध’ के तौर पर देखा जाता है। गवाहों के अनुसार डोड ने बिना पहचानपत्र दिखाए रामसे को सिगरेट बेचने से मना कर दिया था।

इसके बाद रामसे ने डोड की दाढ़ी खींची, उन्हें मुक्का मारा और जमीन पर गिरा दिया। वहां मौजूद लोगों ने पुलिस आने तक रामसे को पकड़ कर रखा। डोड भारत से अमेरिका आए हैं और यहां उनकी एक दुकान है। उन्होंने अदालत को दिए एक लिखित बयान में कहा कि अमेरिका में घृणा अपराध तेजी से बढ़ रहे हैं। एफबीआई का भी कहना है कि ऑरेगन में 2016 की तुलना में 2017 में घृणा अपराध 40 फीसदी तक बढ़ गए हैं। डोड ने कहा, उसने मुझे इंसान नहीं समझा। उसने मुझे इस लिए मारा कि मैं कैसा दिख रहा हूं। मेरी पगड़ी और दाढ़ी के लिए मारा-ये मेरी धार्मिक आस्था से जुड़ी चीजें हैं।

Loading...

Check Also

हम आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई हर मंच पर जारी रखेंगे:अकबरुद्दीनहम आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई हर मंच पर जारी रखेंगे:अकबरुद्दीन

न्यूयॉर्क :संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन का कहना है कि आतंकवाद ...