Home / Home / छतीसगढ़: भिलाई नरबलि कांड में SC का फैसला- ‘तांत्रिक’ दंपति को फांसी की सज़ा

छतीसगढ़: भिलाई नरबलि कांड में SC का फैसला- ‘तांत्रिक’ दंपति को फांसी की सज़ा

 

दुर्ग : छतीसगढ़ के भिलाई स्थित रुआबांधा बस्ती में हुए नरबलि प्रकरण के आरोपियों को दी गई फांसी की सजा को सुप्रीम कोर्ट ने सही माना है। सुप्रीम कोर्ट की तीन सदस्यीय खंडपीट ने हाईकोर्ट के फैसले को न्यायसंगत पाया।

इस फैसले के बाद अब कथित तांत्रिक इश्वर लाल यादव और उसकी पत्नी किरण बाई को मौत की सजा होगी। दंपति ने दो साल के बच्चे का अपहरण कर उसकी बलि दे दी थी। इस मामले में सात आरोपियों को तत्कालीन जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने मार्च 2014 में फांसी की सजा सुनाई थी। अब सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले को बरकरार रखा है।

भिलाई में हुए दिल दहला देने वाले नरबलि कांड में सुप्रीम कोर्ट ने दोनों मुख्य आरोपियों सहित 7 को दी गई फांसी की सजा को बरकरार रखा है। तांत्रिक दंपति सहित मामले के 7 आरोपियों को दुर्ग न्यायालय ने साल 2014 में फांसी की सजा सुनाई थी।

दो साल के बच्चे चिराग राजपूत की बलि चढ़ाने वाले दोषी इश्वर लाल यादव और उसकी पत्नी किरण बाई के प्रकरण की सुनवाई के दौरान मानवीय दृष्टिकोण और रिकाॅर्ड में लाए गए साक्ष्यों के आधार अदालत ने इसे रेयरेस्ट ऑफ रेयर केस मानते हुए ये फैसला दिया गया।

Loading...

Check Also

यौन उत्पीड़न मामला: चिन्मयानन्द की न्यायिक हिरासत 14 दिन बढ़ाई गई, 30 अक्टूबर को अगली पेशी

शाहजहांपुर: पूर्व केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दिग्गज नेता स्वामी चिन्मयानंद पर लगे ...