Home / हेल्थ &फिटनेस / घुटने का दर्द, बांझपन और लिकोरिया सहित कई बीमारियों का काल है ये चीज, जाने फायदे

घुटने का दर्द, बांझपन और लिकोरिया सहित कई बीमारियों का काल है ये चीज, जाने फायदे

बबुल का पेड़ जिसे स्थानीय भाषा में देशी कीकर कहा जाता है। पुरानी मान्यताओं के अनुसार इस पेड़ में भगवान विष्णु का निवास माना जाता है।प्राचीन समय में इस पेड की पुजा की जाती थी । इस पेड़ को काटना महापाप माना जाता है। जिस जगह यह पेड होता है वह जगह अत्यंत शुभ मानी जाती है। ऐसा माना जाता है कि जिस घर में यह पेड़ पाया जाता है कि वह घर हमेशा धन धान्य से परिपूर्ण रहता है। इसके अलाबा बबूल का पेड़ आयुर्वेद की दृष्टि से बहुत ही उपयोगी माना जाता है। यह कई तरह की बीमारियों में लाभकारी माना जाता है। आइये जानते है बबूल के कुछ फायदे।

1.घुटने के दर्द में

 

बबूल का उपयोग घुटनो के दर्द मिटाने के काम आता है इसका उपयोग करने के लिए आप बबूल की फली को धूप में सुखाकर पाउडर बना लें एवं दिन में 2 से 3 बार घुटनो पर लगाये अतः ऐसा करने पर घुटनो का दर्द स्वतः ही समाप्त हो जायेगां।

2.बांझपन दूर करना

Google Image

बबूल के पेड़ के तने से एक फोडा सा निकलता है जिसे बांदा भी कहा जाता है इसे पीसकर और छाया में सुखाकर चूर्ण बना ले एंव इस चूर्ण को तीन ग्राम की मात्रा में माहवारी के खत्म होने के अगले दिन से तीन दिनो तक सेवन करे।

3.मुंह के छालों को दूर करने में

 

बबूल का उपयोग मुंह में छाले मिटाने के लिए किया जाता है इसके लिए आपको बबूल की छाल को सूखाकर चूर्ण बनाना होगो एवं छाले वाली जगह पर यह चूर्ण लगा ले ऐसा करने पर छाले कुछ ही दिनों में समाप्त हो जाऐगे।

4.सीने में जलन को कम करने में

 

सीने में जलन को कम करने के लिए आप बबूल की पत्ती का उपयोग कर सकते है इसके लिए आप बबूल की पत्तियो को उबाल कर दिन में 3 से बार पीने से सीने की जलन मिटाने में उपयोग किया जाता है ।

5.लिकोरिया में उपयोग

 

बबूल की छाल का उपयोग लिकोरिया को ठीक करने के लिए किया जाता है इसका उपयोग करने के लिए आपको बबूल की छाल का काढा बानकर दिन में 2 से 3 बार पीना होगा।

Loading...

Check Also

सब्जी का छिलका करेगा आपके बालों को काला

कम उम्र में बाल सफ़ेद होना कोई बढ़ी बात नहीं है, आज कल के बढ़ते ...