Home / मनोरंजन / गुड मॉर्निंग : प्रेमपात्र होने के बजाय, विश्वासपात्र होना कहीं ज्यादा बेहतर है

गुड मॉर्निंग : प्रेमपात्र होने के बजाय, विश्वासपात्र होना कहीं ज्यादा बेहतर है

मैं खुश हूँ कि कोई मेरी बात तो करता है। बुरा कहता है तो क्या हुआ, वो याद तो करता है। कौन कहता हैं की नेचर और सिग्नेचर कभी बदलता नही। बस एक चोट की ज़रूरत हैं, अगर ऊँगली पे लगी तो सिग्नेचर बदल जाता है और दिल पे लगी तो नेचर बदल जाता है।

सफलता कुछ नही बस दुसरो से अलग मार्ग पे चलना है। एक असफल और सफल व्यक्ति में सिर्फ एक चीज़ का अंतर होता है और वो है कुछ बड़ा करने की इच्छा।

Image result for Good Morning

Loading...

Check Also

मूली का फेसपैक गर्मियों में स्किन में डाल देता है नई जान

गर्मियों में त्वचा की देखभाल के लिए कई तरह के उपाय लोग अपनाते हैं लेकिन ...