Home / विदेश / गुडइनफ, वाइटिंगम और योशिनो को मिला केमेस्ट्री का नोबेल पुरस्कार

गुडइनफ, वाइटिंगम और योशिनो को मिला केमेस्ट्री का नोबेल पुरस्कार

 

स्टॉकहोम :रसायन विज्ञान का इस साल का नोबेल पुरस्कार जॉन बी गुडइनफ, एम स्टैनले वाइटिंगम और अकिरा योशिनो को देने की घोषणा हुई है। इन्हें यह प्रतिष्ठित पुरस्कार लिथियम-आयन-बैट्री के विकास के लिए दिया जाएगा। लिथियम-आयन बैट्री को आज की तकनीक की दुनिया में नई क्रांति लाने का भी श्रेय मिलता है। ऐसी बैट्री हर रोज इस्तेमाल में आने वाली चीजों जैसे स्मार्टफोन, लैपटॉप और यहां तक कि इलेक्ट्रिक कारों के लिए बहुत उपयोगी है। नोबेल फाउंडेशन ने कहा, अपने काम से इस साल के केमेस्ट्री के नोबेल पुरस्कार विजेताओं ने वायरलेस, जीवाश्म ईंधन मुक्त समाज के निर्माण की नींव रखी है।

जॉन बी गुडइनफ का जन्म जर्मनी में 1922 में हुआ था और फिलहाल वे अमेरिका के यूनिवर्सिटी ऑर टेक्सस में हैं। वहीं, 1941 में युनाइटेड किंगडम में जन्में एम. स्टैनले अभी अमेरिका के बिंगमटन यूनिवर्सिटी में पढ़ाते हैं। अकिरा योशिनो जापान की हैं और उनका जन्म 1948 में हुआ था। वे अभी जापान की मिजो यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर हैं।

इससे पहले सोमवार को अमेरिकी अनुसंधानकर्ताओं विलियम कालिन और ग्रेग सेमेंजा और ब्रिटेन के पीटर रैटक्लिफ ने चिकित्सा क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार जीता। वहीं, मंगलवार को भौतिकी का इस साल का नोबेल पुरस्कार संयुक्त रूप से जेम्स पीबल्स, मिशेल मेयर और डिडियेर क्वीलोज को देने की घोषणा की गई। स्वीडन की राजधानी स्टॉकहोम में 2019 के लिए नोबेल पुरस्कारों की घोषणा सोमवार से शुरू हुई है। इन पुरस्कारों के तहत 14 अक्टूबर तक 6 क्षेत्रों में नोबेल पुरस्कार विजेता का ऐलान होगा।

Loading...

Check Also

नासा पहली बार महिलाओं से करवाने जा रहा यह काम अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी !

वॉशिंगटन, अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा की ओर से इस सप्ताह पहली बार केवल महिलाओं को ...