Friday , March 22 2019
Home / home / गठबंधन के लिए मनाने की कोशिश जारी, समझ नहीं आता कांग्रेस के मन में क्या है

गठबंधन के लिए मनाने की कोशिश जारी, समझ नहीं आता कांग्रेस के मन में क्या है

नई दिल्ली:दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल कांग्रेस से गठबंधन को लेकर बेचैन हैं, लेकिन कांग्रेस आम आदमी पार्टी के साथ लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए तैयार नहीं है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का एक बार फिर से दर्द उभरकर सामने आए। रात चांदनी चौक इलाके में एक सभा के दौरान सीएम केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में भाजपा के हर उम्मीदवार के खिलाफ केवल एक उम्मीदवार होना चाहिए। वोटों का बंटवारा नहीं होना चाहिए। अगर आज कांग्रेस के साथ हमारा गठबंधन हो जाता है, तो बीजेपी दिल्ली की सभी 7 सीटें हार जाएगी। कांग्रेस को गठबंधन के लिए मनाने की कोशिश की जा रही है, लेकिन उन्होंने समझने से इनकार कर दिया।

कांग्रेस को मना-मना कर थक गए, मुझे नहीं समझ आता कि उनके मन में क्या है। कांग्रेस ने यूपी में सपा-बसपा को बांटने का काम किया है। गठबंधन होना चाहिए, लेकिन कांग्रेस के मन में क्या है? ये वो नहीं जानते। कांग्रेस दूसरी पार्टियों को कमजोर कर रही है। इसलिए दिल्ली की सभी लोकसभा सीटों पर आप पार्टी अकेले ही चुनाव लड़ेगी। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने ये भी कहा कि मोदी-शाह की जोड़ी ने देश को हिंदू और मुस्लिम में बांट दिया है। दिल्ली में आप पार्टी की सरकार ने स्कूल और अस्पतालों में काम किया। जहां हिंदू और मुस्लिम सहित सभी धर्मों के लोगों को सुविधाएं मिल रही हैं। सबसे सस्ती बिजली दिल्ली में मिल रही है। कच्ची कॉलोनियों में सीवेज सहित सभी बुनियादी सेवाओं पर काम भी शुरु कर दिया है।

केजरीवाल ने अपने सीने पर हाथ रखते हुए कहा कि प्रधानमंत्री 56 इंच के सीने का हवाला देते हैं तो आज उनकी सरकार ने दिल्ली वालों का सीना 59 इंच का कर दिया है। उन्होंने ये भी कहा कि नरेंद्र मोदी ने देश को बांटने का काम किया है। 70 वर्षों से पाकिस्तान देश को कमजोर करने में लगा है, लेकिन उसे कामयाबी मोदी सरकार में मिली है। विरोधी पार्टियों पर हमला बोलते हुए अरविंद केजरीवाल ने यहां तक कह दिया कि जो भी देशभक्त है उसका सिर्फ एक ही मकसद होना चाहिए, मोदी-शाह को हराना है।

Loading...

Check Also

यूरोपीय संघ ने गूगल पर लगाया 1.7 अरब डॉलर का जुर्माना, जानें वजह

यूरोपीय संघ के प्रतिस्पर्धा आयोग ने गूगल पर पर 1.7 अरब डॉलर का भारी जुर्माना ...