Home / विदेश / क्वीन ऑफ गन्स के नाम से मशहूर पूर्व फौजी बोलीं- हमारे देश में भी हो अमेरिका जैसा हथियार कानून

क्वीन ऑफ गन्स के नाम से मशहूर पूर्व फौजी बोलीं- हमारे देश में भी हो अमेरिका जैसा हथियार कानून

यरुशलम. क्वीन ऑफ गन्स के नाम से मशहूर इजरायल की पूर्व फौजी ओरिन जूली अमेरिका के आर्म्स ला (हथियारों के कानून) को विश्व में सबसे बेहतरीन मानती हैं। उनका कहना है कि इजरायल में भी ऐसा ही कानून होना चाहिए, लेकिन अपने देश में उन्हें एक हथियार भी रखने की अनुमति नहीं है। इसके बावजूद वे सालों तक इजरायल की सेना में सेवाएं दे चुकी हैं।

मॉडलिंग का ऑफर भी मिला
वे 2012 में इजरायल की सेना में भर्ती हुई थीं। जूली की इच्छा सैन्य अभियानों में शामिल होने की थी। उन्होंने सैन्य गतिविधियों में शामिल होने की मंशा अपने अफसरों से जाहिर की, लेकिन उन्हें दफ्तर का काम दे दिया गया। 2013 में जूली को सैन्य अभियानों में सक्रिय भूमिका निभाने का मौका दिया गया। तब जूली ने सैनिक के वेष में अपने कई फोटो सोशल मीडिया पर पोस्ट किए। उसके बाद हथियारों के डीलर्स ने उन्हें माडलिंग का ऑफर दिया।

जूली को ट्रम्प बेहद पसंद

जूली का कहना है कि सोशल मीडिया पर उन्होंने लड़की का एक अलग ही रूप पेश किया। अक्सर लड़कियां अपने सुंदर और उत्तेजक फोटो सोशल मीडिया पर शेयर करती हैं, लेकिन उनकी तस्वीरों में न तो बिकिनी थी और न ही बाथिंग शूट। जूली को अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प बेहद पसंद हैं। वे उनके उन आलोचकों को करारा जवाब देने से नहीं चूकतीं, जो उन्हें यहूदी विरोधी मानते हैं। जूली का कहना है कि बराक ओबामा की तुलना में ट्रम्प का लगाव इजरायल से बहुत ज्यादा है। उन्होंने ही यरुशलम को इजरायल की राजधानी के तौर पर मान्यता दी।

जूली को हथियार सुकून देते हैं

जूली का कहना है कि हथियारों से उन्हें बहुत प्यार है। इनके साथ खुद की नुमाइश करने में उन्हें सुकून मिलता है। हथियारों के साथ वे खुद को बेहद ताकतवर महसूस करती हैं। उन्हें लगता है कि हर चीज उनके नियंत्रण में है।

Loading...

Check Also

पूर्व राजनयिक बोले- अगर कोई अपने अधिकारों के लिए हथियार उठाता है तो इसमें कुछ गलत नहीं

इस्लामाबाद. पाकिस्तान के तीन पूर्व राजनयिकों ने जम्मू-कश्मीर में हिंसा को बढ़ावा देने संबंधी बयान दिए ...