Home / धर्म / कुछ भी कर सकती है महिलाएं चाणक्‍य नीति के अनुसार, ऐसे पुरुषों को पाने के लिए

कुछ भी कर सकती है महिलाएं चाणक्‍य नीति के अनुसार, ऐसे पुरुषों को पाने के लिए

हम सभी आचार्य चाणक्य को तो जानते ही हैं इनके बारे में काफी कथाएं प्रचलित है। आचार्य चाणक्‍य की उनकी सोचने और समझने की क्षमता ऐसी थी बड़े बड़े राजा भी उनकी बातों पर आंख बंद करके विश्‍वास करते थें। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि चाणक्य वही इन्सान हैं जिन्होंने एक बच्चे को अपना हथियर बनाकर उसे महाराजा और पराक्रमी चन्द्रगुप्त बना दिया। बताया तो ये भी जाता है कि चाणक्य को दुनिया के बारे में ऐसी समझ थी कि उन्‍हें कई सारे समाज के बारे में पता था उन्‍होंने हर किसी को कई तरह की सलाह दी थी चाहें वो राजनीति से हो या फिर गृहस्‍थ से लेकिन वो हर चीज में एकदम सटिक फैसला लेते थें।

उन्‍होंने जो ज्ञान दिया है उसे एक ग्रंथ में रखा गया है जिसका सहारा लोग आज भी लेते हैं जी हां हम बात कर रहे हैं चाणक्य निति की। आचार्य चाणक्य के इस ग्रंथ में स्त्री और पुरुष के लिए कई उपयोगी नीतियां बताई गई हैं। इन नीतियों का प्रयोग आज भी कई समस्‍याओं से सुलझने के लिए किया जाता है। आज हम आपको इसी ग्रंथ में दिए गए कुछ रोचक व महत्‍वपूर्ण बातों को बताने जा रहे हैं जो आपके लिए फायदेमंद साबित होगा।

आज हम आपको चाणक्‍य नीति में लिखी हुई ऐसी बातों को बताने जा रहे हैं जो आपके लिए बेहद ही फायदेमंद साबित होगी दरअसल आजकल हर कोई के मुंह से यही सुनने को मिलता है कि औरतों को कोई नहीं समझ सकता है। ये बातें कई लोग बोलते हैं इसका कारण ये भी होता है कि कई लोग प्‍यार में धोखा खाए होते हैं या फिर दूसरे शब्‍दों में कह लें तो ये एकतरह से विश्व्यापी समस्या हो गया है इसलिए हर किसी के जुबान पर ये छाया रहता है।

लेकिन आचार्य चाणक्य ने इस समस्या से भी निजात पाने के कुछ महत्‍वपूर्ण बातें बताई थी। जी हां आज के जमाने में कुछ ऐसे लेाग हैं जिनकी तरफ लड़कियां काफी आकर्षित होती है वहीं कई लोग ऐसे भी है जो लोगों की इस भावना का फायदा उठा कर कुछ लोग अपना सम्‍मान तक बेच देते हैं। आज हम आप को आचार्य चाणक्य के द्वारा बताई गई कुछ ऐसी बातें बताने जा रहे हें जिसे देखकर लड़कियां लड़कों के प्रति बेहद आकर्षित होती है।

आइए जानते हैं वो बातें:

सम्‍मान देना: आचार्य चाणक्‍य के अनुसार जो पुरूष अपनी प्रेमिका या पत्‍नी को सम्‍मान देता है या फिर उसके महत्‍व को समझता है तो वैसे पुरूषों के प्रति स्‍त्रियां आकर्षित होती है।

पराई स्‍त्री: आचार्य चाणक्‍य के अनुसार जो पुरूष अपनी प्रेमिका या पत्‍नी के अलावा किसी भी पराई स्‍त्री को कभी स्‍पर्श न करें या फिर किसी भी पराई स्‍त्री को न उस तरह से न देखे तो ऐसे पुरूषाें के प्रति स्‍त्रियां आकर्षित होती है।

सुरक्षा का अहसास: सबसे जरूरी बात तो आपको बता दें कि हर स्‍त्री अपने प्रेमी या पति में अपने पिता की छाया देखती है इसलिए अगर कोई पुरूष स्त्री को सुरक्षा का अहसास दिलाता है और अच्‍छा माहौल देता है वैसे पुरूष के प्रति स्‍त्रियां आकर्षित होती है।

Loading...

Check Also

Sri Krishna Janmashtami 2018: ये है पूजा का शुभ मुहूर्त,2 सितंबर को मनाया जायेगा श्री कृष्ण का जन्मदिन

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी भाद्रपद की कृष्ण पक्ष की अष्टमी को मनाया जाता है जो कि इस ...