Tuesday , March 26 2019
Home / मनोरंजन / काली पन्नों में लिखें तकदीरें बने रिश्तों की गवाही

काली पन्नों में लिखें तकदीरें बने रिश्तों की गवाही

दे सकूं ए खुदा मुझे इतना की बस जीने की तम्मना कम न हो I

 

मोहब्बत के बाद मोहब्बत करना तो मुमकिन है,

लेकिन किसी को टूट कर चाहना,

वो ज़िन्दगी में एक बार ही होता है I

 

मिलावट है तेरे इश्क में,

इत्र और शराब की,

कभी हम महक जाते है,

कभी हम बहक जाते हैं I

 

तेरी मोहब्बत को तो पलकों पर सजायेंगे;

मर कर भी हर रस्म हम निभायेंगे;

देने को तो कुछ भी नहीं है मेरे पास;

मगर तेरी ख़ुशी मांगने हम खुदा तक भी जायेंगे।

 

 

 

 

कभी शब्दों में न ,

तलाश करना,

वजूद मेरा,

मैं उतना कह नहीं,

पाती, जितना

महसूस करती हूँ I

 

Loading...

Check Also

इस अभिनेत्री का बोल्ड और हॉट अवतार आया सामने, देखिये ये हॉट तस्वीरें!

नीरू बाजवा कनाडा में जन्मी पंजाबी अभिनेत्री हैं। उन्होंने 1998 में देव आनंद की बॉलीवुड ...