Home / देश / कांग्रेसियों की बदसलूकी से रो पड़ी 72 वर्षीय मेयर

कांग्रेसियों की बदसलूकी से रो पड़ी 72 वर्षीय मेयर

वडोदरा. शहर में 10 महीने से चल रही पानी की समस्या के लिए पालिका में विरोध करने पहुंचे कांग्रेसियों न 72 वर्षीय महिला मेयर से धक्का-मुक्की की। जिस तरीके से मेयर से बदसलूकी की गई, उससे संस्कारधानी का सिर शर्म से झुक गया। हालात तब और बुरे हो गए, जब मेयर रो पड़ीं।
धक्का-मुक्की की गई
शुक्रवार की शाम साढ़े 5 बजे सभा में उपस्थिति के लिए 2 बार बेल बजने पर मेयर डॉ. जिगीशा बेन शेठ डेप्युटी मेयर के साथ चेम्बर से बाहर निकलीं। वे जैसे ही चेम्बर से बाहर निकलीं, वैसे ही कांग्रेसी प्रदर्शनकारियों का दल उनके सामने आ गया। वे चौंक गईं। फिर अन्य काउंसलर के साथ सभा गृह पहुंच जाएंगी, इस विचार के साथ वे आगे बढ़ीं, तो उन्हें कांग्रेसियों ने घेर लिया। फिर शुरू हो गई धक्का-मुक्की। मेयर सहम गईं। काफी मशक्कत के बाद सिक्योरिटी गार्ड की मदद से वे सभा गृह पहुंची, फिर वे फफक-फफक कर रो पड़ीं।
कांग्रेसियों दरवाजे के बाहर लेट गए
शहर के पूर्व और दक्षिणी इलाके में दस महीनों से पानी की गंभीर समस्या बनी हुई है। इस दिशा में दो दिनों से प्रशासन भी गंभीर हुआ है। इन हालात में दिवाली के पहले इसका समाधान करने के लिए शुक्रवार की शाम को सभा बुलाई गई। सभा शुरू होने के पहले ही शहर कांग्रेसाध्यक्ष प्रशांत पटेल और विपक्षी नेता चंद्रकांत श्रीवास्तव की अगुवाई में कांग्रेसियों ने ढोल-नगाड़ों और प्ले कार्ड के साथ पालिका के कार्यालय परिसर में पहुंच गए। वहां सभी मेयर के  चेम्बर के सामने लेट गए।
भाजपा-कांग्रेस कार्यकर्ताओं में झड़प
सभा जब शुरू होनी थी, तब तक मेयर और डेप्युटी मेयर सभा गृह नहीं पहुंच पाए थे।  उनकी अनुपस्थिति में स्थायी समिति के अध्यक्ष सतीश पटेल ने सभा गृह का अध्यक्ष संभाला। विपक्ष की गैरहाजिरी में उन्होंने सभा मुल्तवी करने की घोषणा की। दूसरी तरफ मेयर जब अपने चेम्बर से निकलकर सभा गृह के लिए बाहर निकलीं, तब उनके चेम्बर के आगे कांग्रेसी लेट गए। कुछ कांग्रेसियों ने उन्हें घेर लिया। थोड़ी देर बाद कांग्रेसी बेकाबू होने लगे। सभी ने मिलकर मेयर के साथ धक्का-मुक्की की। भाजपा-कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच झड़प भी हुई। सभा गृह पहुंचने के बाद मेयर रो पड़ीं।
पालिका ने गंभीरता से नहीं लिया
पालिका को पता था कि कांग्रेसी पानी के मुद्दे पर कुछ विरोध कर सकते हैं, उसके बाद भी उसे गंभीरता से नहीं लिया गया। सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम नहीं किए गए थे। इसलिए मेयर के साथ ऐसा हुआ। इसके पहले इस तरह का व्यवहार किसी भी मेयर के साथ नहीं हुआ है।
पुलिस भी कांग्रेसियों से मिली हुई है
इस संबंध में मेयर जिगीशा बेन शेठ ने कहा कि यह घटना पूरी तरह से निंदनीय है। मेरा खिलाफ षड्यंत्र किया जा रहा है। पुलिस भी कांग्रेसियों के साथ मिली हुई है, ऐसा लगता है। मामले की शिकायत थाने में की जा चुकी है।
हमने मेयर का अपमान नहीं किया
हमारी मांग केवल पानी समस्या को सुलझाने की है। हमने मेयर का अपमान नहीं किया। वहां सीसीटीवी कैमरे लगे हैं, उसमें देखा जा सकता है कि हमने क्या किया। इसके विपरीत मैंने तो मेयर को रास्ता देने का प्रयास किया है। पार्टी में कुछ लोग ऐसे हो सकते हें। पर उसका यह आशय कदापि नहीं कि पूरी पार्टी ही ऐसी है। चंद्रकांत श्रीवास्तव विपक्षी नेता

Loading...

Check Also

हिंसा के बाद लगे धमकी भरे पोस्टर, श्रीनगर की सड़कों पर फिर छाया सन्नाटा

श्रीनगर: श्रीनगर और दक्षिण कश्मीर के इलाकों में बुधवार रात हिंसा और चेतावनी वाले पोस्टर्स ...