Wednesday , July 17 2019
Home / देश / कर्नाटक के मुद्दे पर कांग्रेस, अन्य विपक्षी दलों का बहिर्गमन

कर्नाटक के मुद्दे पर कांग्रेस, अन्य विपक्षी दलों का बहिर्गमन

नयी दिल्ली: 10 जुलाई (वार्ता) कर्नाटक के मुद्दे पर कांग्रेस तथा अन्य विपक्षी दलों ने बुधवार को शून्यकाल के दौरान लोकसभा में हँगामा किया और दोपहर बाद 12.40 बजे सदन से बाहर चले गये।

शून्यकाल के दौरान कांग्रेस सदस्य अधीर रंजन चौधरी ने कर्नाटक की सरकार गिराने की साजिश का केंद्र सरकार पर आरोप लगाना शुरू किया। अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि यह मुद्दा वह कल भी उठा चुके हैं। इसके बाद उन्होंने दूसरे सदस्य का नाम पुकारा। इससे नाराज कांग्रेस के सदस्य अध्यक्ष के आसन के करीब आकर ‘हमें न्याय चाहिये’ के नारे लगाने लगे। तृणमूल कांग्रेस, द्रविड़ मुनेत्र कषगम् और बहुजन समाज पार्टी तथा कुछ अन्य दलों के सदस्य भी अपने स्थानों पर खड़े होकर उनका साथ दे रहे थे।

बाद में श्री बिरला ने कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी को उनकी बात रखने का मौका दिया। श्री चौधरी ने आरोप लगाया कि महाराष्ट्र में मार्शल लॉ चल रहा है। कर्नाटक के सिंचाई मंत्री डी.के. शिवकुमार ने एक होटल में अपनी बुकिंग करायी थी। लेकिन, जब वे होटल पहुँचे तो पुलिस ने उन्हें अंदर जाने से रोक दिया। होटल के अधिकारियों ने कहा कि उनकी बुकिंग रद्द कर दी गयी है।

उल्लेखनीय है कि श्री शिवकुमार मुंबई के रेनसेंस होटल जा रहे थे जहाँ कर्नाटक कांग्रेस के त्यागपत्र दे चुके विधायक ठहरे हैं। श्री चौधरी ने कहा “एक चुने हुए जनप्रतिनिधि को अपनी ही पार्टी के विधायकों से नहीं मिलने दिया जाता। हिंदुस्तान के लोकतंत्र की धज्जियाँ उड़ाई जा रही हैं।”

संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि कर्नाटक के वे विधायक अब कांग्रेस से त्यागपत्र दे चुके हैं। उनका इस्तीफा अभी स्वीकार नहीं किया गया है। उन्होंने कहा, “विधायकों ने मुंबई के पुलिस आयुक्त को पत्र लिखकर कहा है कि उन्हें डी. के. शिवकुमार से खतरा है, इसलिए उन्हें होटल आने की इजाजत न दी जाये। उनकी लिखित शिकायत के आधार पर ही श्री शिवकुमार को होटल में प्रवेश से रोका गया।” श्री जोशी ने यह भी कहा कि कांग्रेस में त्यागपत्र का सिलसिला पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी द्वारा शुरू किया गया था। मंत्री ने अभी अपना वक्तव्य पूरा भी नहीं किया था कि कांग्रेस, तृणमूल, द्रमुक और बसपा के सदस्य सदन से बहिर्गमन कर गये।

Loading...

Check Also

शहर में जहां देखो वहां लगे हैं रेत के अवैध ढेर

भोपाल: शहर में जहां देखो, वहां रेत के अवैध ढेर लगे हैं। राजधानी के होशंगाबाद ...