Home / Home / ऑटो रिक्शा और ई-रिक्शा जबरदस्ती रोके गए, यात्री परेशान, पुलिस को 249 शिकायतें मिलीं

ऑटो रिक्शा और ई-रिक्शा जबरदस्ती रोके गए, यात्री परेशान, पुलिस को 249 शिकायतें मिलीं

नई दिल्ली. नए ट्रैफिक कानून में जुर्माना बढ़ाए जाने, आयकर कानून की धारा 44एई में ज्यादा कर लगाना और वाहन बीमा में मुआवजा देने में नियम बदलने के खिलाफ दिल्ली-एनसीआर में गुरुवार को 51 ट्रांसपोर्ट यूनियन ने हड़ताल की।

हड़ताल को लेकर कोई बड़ी घटना बेशक सामने नहीं आई लेकिन सुबह आनंद विहार, सूरजमल विहार, अक्षरधाम मंदिर, नई दिल्ली रेलवे स्टेशन सहित कुछ जगह ऑटो रिक्शा व ई-रिक्शा को जबरदस्ती रोकने के साथ ही यात्रियों को उतार दिया गया। यहां तक की आनंद विहार में एक चालक के साथ मारपीट और दो ऑटो रिक्शा की तिरपाल फाड़ने का वीडियो भी सामने आया। पुलिस ने बताया कि उन्हें रास्ता जाम करने व ऑटो-टैक्सी रोकने या सवारी उतारने जैसी 249 कॉल मिली थीं। इस बीच नोएडा में जाम लगाने के आरोप में 18 लोग गिरफ्तार किए गए।

भारतीय मजदूर संघ से जुड़े ऑटो-टैक्सी संगठनों की अगुवाई करने वाले राजेंद सोनी, ऑल दिल्ली ऑटो टैक्सी ट्रांसपोर्ट कांग्रेस यूनियन के अध्यक्ष किशन वर्मा और यूनाइटेड फ्रंट ऑफ ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के महासचिव श्यामलाल गोला से भास्कर ने पूछा कि हड़ताल करना अधिकार लेकिन जबरदस्ती गाड़ी रोकने, यात्री उतारने या गाड़ी में तोड़फोड़ की छूट किसने दी? इस पर राजेंद्र सोनी और किशन वर्मा ने कहा कि हड़ताल को बदनाम करने वाले असमाजिक तत्वों ने कुछ जगह वाहन रोकने या सवारी उतारने की कार्रवाई की तो पुलिस को उनकी पहचान कर कार्रवाई करनी चाहिए।

03

ऑटो-टैक्सी प्री-पेड बूथ पर कम पर्ची

ऑटो-टैक्सी प्री-पेड बूथ पर भी हड़ताल का असर दिखा। ऑटो-टैक्सी के लिए जो बूथ पर पहुंचे, उन्हें भी ऑटो टैक्सी नहीं मिला क्योंकि वहां वाहन नहीं थे। हालांकि ट्रैफिक पुलिस अधिकारियों ने कहा कि जो लोग जाने को तैयार हुए, ऐसे ऑटो टैक्सी चालकों को पर्ची दी गई।

एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन और बस अड्‌डे पर यात्रियों को हुई ज्यादा परेशानी

हड़ताल के कारण दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, बस अड्‌डा पर परेशानी ज्यादा हुई। बड़ी सड़कों पर प्रतिबंध के कारण ई रिक्शा उसके आसपास नहीं थे जिसकी वजह से दिक्कत रही। हड़ताल को लेकर लोगों को जानकारी भी कम थी जिसकी वजह से एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन और बस अड्‌डा पर उतरने वालों को लंबी दूरी पर पैदल चलना पड़ा। रेलवे स्टेशन के नजदीक मेट्रो स्टेशन ने जरूर लोगों को राहत दी। आनंद विहार स्टेशन, अक्षरधाम मंदिर, सूरजमल विहार और नई दिल्ली स्टेशन पर सुबह 7-8 बजे से ही असर दिखने लगा था।

आगे क्या: सोमवार को बैठक में चर्चा
श्यामलाल गोला ने कहा है कि सोमवार को सभी संगठनों की बैठक बुलाई गई है। हड़ताल के बावजूद केंद्र या राज्य सरकार ने संपर्क नहीं किया है। आगे की कार्रवाई उसमें तय होगी। राजेंद्र सोनी ने कहा कि केंद्र और दिल्ली सरकार ने जुर्माने कम नहीं किए तो उनके खिलाफ जल्द ही काला झंडा लगाकर विरोध करेंगे।

तैनात थी पुलिस की अतिरिक्त 10 बटालियन
पुलिस की अतिरिक्त 10 बटालियन तैनात की थी। पुलिस को दिनभर में रास्ता जाम करने व ऑटो-टैक्सी रोकने या सवारी उतारने जैसी 249 कॉल मिली थी। पुलिस मौकों पर पहुंची। कुछ जगह पुलिस ने चालकों को पकड़ा भी लेकिन बाद में छोड़ दिया गया। -अनिल मित्तल, एडिशन पीआरओ, दिल्ली पुलिस

Loading...

Check Also

अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला मामला : रातुल पुरी 25 अक्टूबर तक की न्यायिक हिरासत में

नई दिल्ली :  दिल्ली की राऊज एवेन्यू कोर्ट ने अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला मामले में कमलनाथ के भांजे रातुल पुरी को ...