Thursday , December 13 2018
Home / मध्य प्रदेश / एम्स कर्मियों द्वारा काम रोककर धरना-प्रदर्शन करने पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक

एम्स कर्मियों द्वारा काम रोककर धरना-प्रदर्शन करने पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक

जबलपुर। भोपाल स्थित एम्स अस्पताल के कर्मचारियों, मिनिस्टिरियल स्टाफ, नर्सिंग स्टाफ द्वारा काम रोक कर धरना देने पर हाईकोर्ट ने रोक लगा दी है। हाईकोर्ट ने कहा कि वजह कोई भी हो, कर्मचारी अस्पताल के कामकाज में बाधा नहीं पहुंचा सकते। मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए उसकी सुनवाई के लिए सोमवार को पितृमोक्ष अमावस्या की छुट्टी के दिन विशेष बेंच गठित की गई।

 

एम्स प्रबंधन ने दायर की थी याचिका
कर्मियों द्वारा धरना-प्रदर्शन करने पर एम्स प्रबंधन ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर बताया कि कर्मचारी संघ को 6 अक्टूबर को जारी नोटिस के विरोध में सोमवार सुबह 8 बजे से ही कर्मचारी काम को रोककर कर परिसर में धरने पर बैठ गए। मामले पर सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट ने निर्देश दिए कि अस्पताल की बाउंड्री वॉल से 500 मीटर की परिधि में कोई सभा नहीं की जाए। कर्मचारी यूनियन की कोई भी गतिविधि अस्पताल परिसर से बाहर की जाएं।

कार्रवाई के लिए दिए आदेश
कोर्ट ने कहा कि अस्पताल परिसर के भीतर किसी भी तरह का धरना, प्रदर्शन, लाउड स्पीकर का उपयोग और नारे लगाना पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा। हाईकोर्ट ने चेतावनी देते हुए कहा कि आदेश का उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। कोर्ट ने कहा कि राज्य सरकार आदेश का पालन कराने और इसमें बाधा बनने वालों के खिलाफ कार्रवाई के लिए पूरी तरह स्वतंत्र है।

Loading...

Check Also

इस बार कम वोट के अंतर से होगा जीत-हार का फैसला

भोपाल। मतगणना के पहले ही प्रत्याशियों की जीत-हार के दावे समर्थक कर रहे हैं। कार्यकतार्ओं ...