Monday , May 27 2019
Home / Home / इस ट्रैवल एजेंट जोड़े ने 5 साल में ठगे 68.40 लाख, दुबई उड़ने से पहले मोहाली एयरपोर्ट से गिरफ्तार

इस ट्रैवल एजेंट जोड़े ने 5 साल में ठगे 68.40 लाख, दुबई उड़ने से पहले मोहाली एयरपोर्ट से गिरफ्तार

मोगा. मोगा पुलिस की तरफ से गुरुवार को एक युवक और उसकी पत्नी को मोहाली एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया है। इन पर आराेप है कि इन दोनों ने बीते करीब 5 साल में लोगों को विदेश भेजने के नाम पर 68 लाख 40 हजार रुपए ठगे हैं। लंबे समय से आम पब्लिक के साथ-साथ पुलिस की आंखों में धूल झोंक रहा यह दंपती दुबई फरार हो चुका होता, अगर थोड़ी देर और हो गई होती। फिलहाल पुलिस ने आरोपियों को कोर्ट में पेश करके 2 दिन के रिमांड पर ले लिया है।

जलालाबाद पूर्वी निवासी जगविंदर सिंह ने आईजी बठिंडा जोन को 24 जनवरी 2018 को दी लिखित शिकायत दी थी कि वह विदेश जाना चाहता था। इसके लिए मोगा के गुलाबी बाग में एनआरआई सिंह ब्रदर्स ट्रैवल एजेंट का काम करने वाले दंपती गुरधीर सिंह व अवनीत कौर से 2017 में मिला। उन लोगों ने उससे 3 लाख 60 हजार रुपए मांगे और जब उसने पैसे व दूसरे जरूरी दस्तावेज उपलब्ध करवा दिए तो 2 महीने बाद इस दंपती ने फर्जी टिकट, वीजा, होटल बुकिंग नेट पर डाल दी। पता चलने पर इनसे पैसे और दस्तावेज वापस मांगे गए तो इनकार कर दिया गया। इस शिकायत की जांच आईजी ने एसएसपी बठिंडा को तो एसएसपी ने डीएसपी तलबंडी साबो वरिंदर सिंह गिल को सौंप दी थी। ढाई महीने की जांच के बाद शिकायतकर्ता द्वारा लगाए आरोप सही पाए जाने पर रिर्पोट तैयार करके आईजी बठिंडा को सौंप दी। इसके बाद आईजी ने मोगा पुलिस को इस एजेंट दंपती के खिलाफ केस दर्ज करने के आदेश दिए तो 11 अप्रैल 2018 को मोगा के थाना सिटी-1 में धोखाधड़ी, गबन, फर्जी दस्तावेज तैयार करने के आरोप में केस दर्ज किया गया था।

पुलिस ने 14 महीने से फरार चल रहे दंपती के खिलाफ लुट आउट नोटिस जारी करवा देश के सभी एयरपोर्ट अथार्टी को उनकी फोटो के साथ साथ संबधित दस्तावेज भेज दिए। इसी के चलते बुधवार को आरोपी दंपती मोहाली एयरपोर्ट से उस वक्त पकड़ा गया, जब फ्लाइट लेकर दुबई चले जाने के लिए तैयार था। एयरपोर्ट से सूचना के बाद मोगा की पुलिस टीम मोहाली गई और वहां से आरोपियों को मोगा चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट की अदालत में लाकर पेश किया। अदालत ने दोनों को दो दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। पुलिस के मुताबिक आरोपियों के खिलाफ कुल सात केस दर्ज हैं, जिनमें पिछले करीब 5 साल में इन पर 68 लाख, 40 हजार रुपए की ठगी का आरोप है।

जांच अधिकारी ने बताया कि आरोपी एनआरआई ब्रदर्स के नाम से ट्रैवल एजेंसी चला रहे थे। उनके खिलाफ पहला केस 16 जुलाई 2017 को, साढ़े तीन लाख रुपए की ठगी का दूसरा केस 1 मार्च 2018 को दर्ज हुआ था। 11 अप्रैल 2018 को दर्ज तीसरे पर्चे में 3 लाख 60 हजार की ठगी का आरोप है। चौथा केस 4 मई 2018 को 4 लाख 70 हजार की ठगी का, पांचवां 24 मई 2018 13 लाख की ठगी का, छठा केस 15 अगस्त 2018 3 लाख 60 हजार की ठगी का और 7वां केस 16 अगस्त 2018 को चालीस लाख रुपए की ठगी का थाना सिटी-1 दर्ज हुआ था।

Loading...

Check Also

J&K : पाक की गोलाबारी का सेना ने दिया करारा जवाब, एक नागरिक घायल

राजौरी :पाकिस्तानी सेना ने देर रात जम्मू-कश्मीर में राजौरी जिले के नौशहरा सेक्टर में गोलाबारी ...