Tuesday , June 18 2019
Home / उत्तर प्रदेश / आम की आधी फसल बर्बाद, पिछले साल से 30% तक अधिक दाम

आम की आधी फसल बर्बाद, पिछले साल से 30% तक अधिक दाम

लखनऊ . इस साल बाजार में आम पिछले साल से बहुत कम है। वजह यह है कि देश के सबसे बड़े आम उत्पादक राज्य उत्तर प्रदेश में आम की फसल पिछले साल से 45 से 50% तक कम आ रही है। साथ ही आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र और गुजरात में भी फसल उम्मीद के मुताबिक नहीं है। इसलिए आम की कीमतें भी पिछले साल से 25-30% ज्यादा हैं।

देश में आम उत्पादकों और व्यापारियों की सबसे बड़ी संस्था भारतीय मैंगो ग्रोअर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष इंशाराम अली बताते हैं कि देश में पिछले साल करीब 2 कराेड़ टन तक आम आया था। इस साल उत्पादन 1.31 करोड़ टन पर अटक सकता है। वे बताते हैं कि इस बार देशभर में उपज आधी रह सकती है। इसकी वजह यह है कि हाल ही में उत्तर प्रदेश के प्रमुख आम उत्पादक क्षेत्रों में रेतीले तूफान ने फसल बर्बाद कर दी है।

पहले अनुमान था कि इस बार उत्तर प्रदेश में आम का उत्पादन पिछले साल के 40 से 45 लाख टन से घटकर 30 लाख टन तक सिमट जाएगा। क्योंकि एक साल आम अच्छा आता है, तो दूसरे साल इसमें कमी आती है। लेकिन रेतीले तूफान के कारण अब उत्पादन सिमटकर 20 से 22 लाख टन ही रह जाने की आशंका है।

लखनऊ में आम ट्रेडर और इम्पोर्टर कौशिक मलिक बताते हैं कि इसका असर आम की कीमतों पर भी दिखाई देगा। अभी होलसेल कीमतों में बहुत तेजी नहीं है। लेकिन ट्रेंड दिखाई दे रहे हैं। इस साल पका आम 25-30% महंगा मिलेगा। उत्तर प्रदेश के दशहरी आम की सप्लाई तंग रह सकती है।

इधर, आम के आढ़ती ऋषभ सोनकर कहते हैं कि पिछले साल दशहरी की शुरुआत 15 से 20 रु. प्रति किलो से हुई थी। इसके बाद रिटेल में कीमत 45 रु. प्रति किलो तक गई। लेकिन मौजूदा हालात में लगता है कि शुरुआत ही 50-60 रु. किलो से होगी। उत्तर भारत में सबसे ज्यादा होने वाले दशहरी और बनारसी आम के अलावा अन्य किस्मों के भाव में भी ऐसा अंतर आ सकता है।

आम उत्पादन के पिछले पांच साल के आंकड़े

वर्ष     उत्पादन
2013-14 1.55 करोड़ मैट्रिक टन
2014-15 1.65
2015-16 1.75
2016-17 1.85
2017-18 2.10
2018-19 1.31

वर्ष 2019 में उत्पादन के राज्यवार आंकड़े

राज्य उत्पादन
उत्तरप्रदेश 22
आंध्र प्रदेश 20
कर्नाटक 18
तेलंगाना 16
बिहार 14
महाराष्ट्र 12
गुजरात 12
तमिलनाडु 9
उड़ीसा 8

आंकड़े लाख मीट्रिक टन में

Loading...

Check Also

गोरखपुर में 181.82 करोड़ रुपये की लागत से 121.34 एकड़ में बनेगा प्राणि उद्यान

लखनऊ: उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में मंगलवार को प्रदेश कैबिनेट की बैठक में ...