Thursday , June 27 2019
Home / व्यापार / आपने सड़क पर कौन सा पैर पहले रखा आपका फोन बताएगा

आपने सड़क पर कौन सा पैर पहले रखा आपका फोन बताएगा

नए फोन, टेबलेट, लैपटॉप और डेस्क टॉप कंप्यूटर उंगलियों की छाप और चेहरे की पहचान से सिक्यूरिटी सुनिश्चित करते हैं। लेकिन, इन्हें चकमा दिया जा सकता है। इन खामियों से निपटने के लिए अब लोगों को उनकी चाल-ढाल जैसे तरीकों से पहचानने का सिस्टम अपनाने की संभावना है। कई ऑनलाइन सिक्यूरिटी सेवाएं डिवाइस फिंगरप्रिंटिंग जैसे सिस्टम का उपयोग करती हैं। इसमें सॉफ्टवेयर किसी यूजर के गैजेट, हार्डवेयर, ऑपरेटिंग सिस्टम, ऐप, वाई-फाई नेटवर्क, हैडसेट जैसे डिवाइस के उपयोग का ध्यान रखता है। यह जानकारी डिवाइस और उसके यूजर की आदतों का प्रोफाइल बनाने के लिए पर्याप्त है। उदाहरण के लिए अगर किसी बैंक को पता लगता है कि कस्टमर के सामान्य प्रोफाइल से अलग फोन पर अकाउंट तक पहुंच बनाई जा रही है तो वह उचित कदम उठाता है।

डिवाइस फिंगरप्रिंटिंग कम उपयोगी हो रही है। ऐपल, गूगल और ऑपरेटिंग सिस्टम के निर्माता ऐसी खासियतों की रेंज सीमित कर रहे हैं जिन्हें दूर से भांपा जा सकता है। दूसरे लोगों के हाथों में निजी जानकारी पहुंचने से रोकने के लिए ऐसा किया जा रहा है। पर ऐसी पाबंदियों से वैध और अवैध यूजर की पहचान मुश्किल हो जाएगी।

इसलिए व्यवहार बायोमेट्रिक्स का नया तरीका प्रचलित हो रहा है। लोग किस तरह फोन पकड़ते हैं और कैसे पैदल चलते हैं जैसी गतिविधियां रिकॉर्ड करने वाले एक्सीलेरोमीटर और जाइरोस्कोपिक सेंसरों के डेटा से मिली जानकारी पर यह निर्भर करता है। किसी की उंगलियों और हाथों के चलने के खास तरीकों का पता टचस्क्रीन, की बोर्ड, माउस की मॉनिटरिंग से संभव है। सेंसर पता लगा सकते हैं कि फोन टेबल जैसी सख्त सतह या बिस्तर जैसे नरम स्थान पर रखा है। इससे यूजर के रात में सोने की जानकारी तक मिल सकती है।

सिलिकॉन वैली की फर्म यूनिफिड के प्रमुख जॉन व्हेली कहते हैं, व्यवहार बायोमेट्रिक्स से व्यक्ति के मोशन फिंगरप्रिंट पहचानना संभव है। किसी व्यक्ति का सड़क पर कौन सा पैर पहले पड़ा, डग कितना लंबा है, उसने प्रति मिनट कितने डग भरे, चलने वाले के कदम और पुट्‌ठों की हलचल जैसी निजी जानकारी तक फोन का सेंसर बता सकता है। वह यह भी बता सकता है कि फोन हैंडबैग, जेब या हाथ में है। इस तरह के डेटा के सहारे यूनिफिड ने 50 हजार अलग किस्म के हाव-भाव दर्ज किए हैं। व्हेली का दावा है, यूनिफिड ने बैंकों, ऑनलाइन रिटेलर, डिलीवरी कंपनियों, टैक्सी सेवाओं जैसे अपने क्लाइंट को व्यवहार बायोमेट्रिक्स सेवाएं देना शुरू कर दिया है। भविष्य में विज्ञापनदाता गतिविधियों के आधार पर लोगों की जीवनशैली का पता लगाने के लिए पैसे देंगे।

इलेक्ट्रॉनिक जासूसी का एक और जरिया सामने आया

बुद्धिमानी से उपयोग किए जाने पर व्यवहार बायोमेट्रिक्स फायदेमंद है। सैनफ्रांसिस्को की व्यवहार बायोमेट्रिक्स फर्म बिहेवियोसैक के प्रमुख नील कॉस्टिगन कहते हैं, यह सॉफ्टवेयर अतिरिक्त पासवर्ड या अन्य जानकारी के बिना खाताधारक की पुष्टि करता रहता है। यूनिफिड और एक अनाम कार कंपनी फोन से दर्ज ड्राइवर के हाव-भाव के आधार पर वाहन के दरवाजे खोलने का सिस्टम बना रही हैं। दूसरी तरफ यह सिस्टम एक और इलेक्ट्रॉनिक जासूसी का एक और जरिया बन जाएगा।

Loading...

Check Also

6 महीने तक रिचार्ज जियो में करा लें नही करवाना होगा फिर कोई

मार्केट में 6 महीने तक बिना किसी शुल्क के अनलिमिटेड और इंटरनेट कॉलिंग उपलब्ध कराई ...