Saturday , March 23 2019
Home / मनोरंजन / आँखों में जीत के सपने हो तो जिंदगी के हर पल अपने शुभ प्रभात

आँखों में जीत के सपने हो तो जिंदगी के हर पल अपने शुभ प्रभात

डर हमे भी लगा फांसला देख कर, पर हम बढ़ते गए रास्ता देख कर, खुद ब खुद मेरे नज़दीक आती गई मेरी मंज़िल मेरा हौंसला देख कर।

ना संघर्ष न तकलीफ तो क्या मज़ा है जीने में बड़े बड़े तूफ़ान थम जाते हैं जब आग लगी हो सीने में।

 

शिखर तक पहुँचने के लिए ताकत चाहिए होती है, चाहे वो माउन्ट एवरेस्ट का शिखर हो या आपके पेशे का।

एक हारा हुआ ईन्सान, हारने के बाद भी स्माईल करे तो, जितने वाला अपनी जीत की खुशी खो देता है।

संघर्ष ही इंसान को मजबूत बनाता है! फिर चाहे वो कितना भी कमजोर क्यो न हो।

अगर आँखों में जीत के सपने हो तो ऐसा लगता है अब जिंदगी के हर पल अपने हैं।

जिंदगी गुजारने के दो तरीके है, जो पसंद है इसे हासिल करलो या जो हासिल है इसे पसंद कर लो।

 

आँखों में पानी रखो, होंठो पर चिंगारी रखो, ज़िंदा रहना है तो तरकीबे बहुत सारी रखो, राह के पत्थर से बढ़ के कुछ नही है मंजिले, रास्ते आवाज देते है, सफ़र जारी रखो।

Loading...

Check Also

मथुरा में हेमा और सपना के बीच हो सकता है कड़ा मुकाबला

लोकसभा चुनाव को लेकर सभी पार्टियाें ने कमर कस ली है और देखना यह है ...